ऐसे झटपट निकाल सकते हैं म्‍यूचुअल फंड से अपने पैसे, नहीं लगता है ज्‍यादा वक्‍त

मैं टीयर II खाते से आंशिक रूप से पैसे कैसे निकाल सकता हूं

टियर II खाते से पैसे नकालने के लिए, अभिदाता को उपस्थिति अस्तित्व-सेवा प्रदाता से संबंधित विधिवत भरे यूओएस-एस12 को प्रस्तुत करने की जरूरत है। T+3 दिन पर, (T प्रसंस्करण की तारीख है) राशि को सीआरए प्रणाली में पंजीकृत अभिदाता के बैंक खाते में न्यासी बैंक से स्थानांतरित किया जाएगा।

Mutual Fund से पैसे निकालने में नहीं लगता है वक्‍त, जानिए क्‍या मैं अपना निवेश कैसे निकाल सकता हूं है आसान प्रोसेस

अगर आप सिर्फ इसलिए म्‍युचुअल फंडों में निवेश नहीं करते कि इसमें से पैसा निकालना मुश्किल है तो आइए हम आपकी इस मुश्किल को आसान बना देते हैं.

इक्विटी फंडों का पैसा 4-5 दिनों में निवेशकों के अकाउंट में आ जाता है. (प्रतीकात्मक)

बैंकों के फिक्‍स्‍ड डिपॉजिट से कहीं बेहतरीन रिटर्न देने वाले इक्विटी म्‍युचुअल फंड निवेशकों के पसंदीदा है. वजह यह है कि न सिर्फ इसमें निवेश करना आसान है बल्कि इससे झटपट पैसे भी निकाल सकते हैं. अगर आप सिर्फ इसलिए म्‍युचुअल फंडों में निवेश नहीं करते कि इसमें से पैसा निकालना मुश्किल है तो आइए हम आपकी इस मुश्किल को आसान बना देते हैं. इसका प्रोसेस काफी आसान है, आप आजमा कर तो देखिए.

म्‍युचुअल फंड यूनिट रिडीम करने का प्रोसेस
अगर आप म्‍युचुअल फंड के यूनिट रिडीम करना चाहते हैं यानी अपने पैसे निकालना चाहते हैं तो इसकी प्रक्रिया मैं अपना निवेश कैसे निकाल सकता हूं आप किसी भी कारोबारी दिन शुरू कर सकते हैं. अगर आप खुद जाकर यह काम करना चाहते हैं तो आपको म्‍युचुअल फंड कंपनी की वेबसाइट से पहले ट्रांजैक्‍शन स्लिप डाउनलोड करना होगा. उसे अच्‍छी तरह भर लीजिए. इस रिडेंप्‍शन अप्लिकेशन को आप म्‍युचुअल फंड कंपनी के ऑफिस में जमा करवा सकते हैं. आप चाहें तो म्‍युचुअल फंड कंपनियों की ऑनलाइन सुविधा का इस्‍तेमाल भी कर सकते हैं. कई म्‍युचुअल फंड कंपनियां अपनी वेबसाइट के जरिए ऑनलाइन रिडेंप्‍शन (म्‍युचुअल फंड यूनिट भुनाने) की सुविधा उपलब्‍ध कराती हैं. अगर आपने ऑनलाइन पोर्टल के जरिए निवेश किया है तो आप ऑनलाइन फैसिलिटी का इस्‍तेमाल करते हुए अपने यूनिट रिडीम कर सकते हैं.

अकाउंट में पैसे आने में लगेगा सिर्फ इतना वक्‍त
अगर आपने लिक्विड या डेट ओरिएंटेड म्‍युचुअल फंडों में निवेश किया हुआ है तो आपको एक से दो दिनों में पैसे मिल जाएंगे. इक्विटी फंडों का पैसा 4-5 दिनों में निवेशकों के अकाउंट में आ जाता है. गौर करने वाली बात यह है कि अगर आपने इक्विटी फंडों में निवेश किया हुआ है और यूनिट खरीदने के 365 दिनों के भीतर उसे भुना रहे हैं तो आपको 1% का एक्जिट लोड देना पर सकता है. लिक्विड फंड, अल्‍ट्रा शॉर्ट टर्म फंड्स आदि पर कोई एक्जिट लोड नहीं लगता है.

आपके पास ऐसे आते हैं म्‍युचुअल फंड के पैसे
म्‍युचुअल फंड का यूनिट रिडीम करने से प्राप्‍त होने वाले पैसे सीधे आपके बैंक खाते में हैं अगर आपने निवेश के समय बैंक की सारी डिटेल दी हुई है. अगर म्‍युचुअल फंड कंपनी के पास आपकी बैंक की पूरी डिटेल नहीं है तो फिर आपको चेक से पैसे भेज दिए जाएंगे.

ऐसे झटपट निकाल सकते हैं म्‍यूचुअल फंड से अपने पैसे, नहीं लगता है ज्‍यादा वक्‍त

आज हम आपको बताएंगे कि म्‍यूचुअल फंड के यूनिटों को भुनाकर आप अपने पैसे कैसे निकाल सकते हैं। तरीका आसान है, मुश्किल नहीं।

Manish Mishra
Published on: September 09, 2017 10:44 IST

ऐसे झटपट निकाल सकते हैं म्‍यूचुअल फंड से अपने पैसे, नहीं लगता है ज्‍यादा वक्‍त- India TV Hindi

ऐसे झटपट निकाल सकते हैं म्‍यूचुअल फंड से अपने पैसे, नहीं लगता है ज्‍यादा वक्‍त

नई दिल्‍ली। म्‍यूचुअल फंड न सिर्फ बैंकों की तुलना में बेहतर रिटर्न देते हैं बल्कि ये निवेशकों के चहेते इसलिए भी हैं क्‍योंकि इससे पैसे निकालना आसान है। पिछले दो लेखों में आपने पढ़ा कि म्‍यूचुअल फंडों में निवेश कैसे किया जाए और बेहतरीन फंडों का चयन कैसे किया जाए। आज हम आपको बताएंगे कि म्‍यूचुअल फंड के यूनिटों को भुनाकर आप अपने पैसे कैसे निकाल सकते हैं। तरीका आसान है, मुश्किल नहीं।

यह भी पढ़ें : घर बैठे ऐसे जानिए बैंक अकाउंट से आधार लिंक हुआ या नहीं, ये हैं सबसे आसान तरीके

म्‍यूचुअल फंड यूनिट भुनाने की यह है प्रक्रिया

अगर आप म्‍यूचुअल फंड का यूनिट भुनाना चाहते हैं तो यह काम काम किसी भी बिजनेस डे को आप इसकी प्रक्रिया शुरू कर सकते हैं। अगर आप खुद जाकर यह काम करना चाहते हैं तो आपको म्‍यूचुअल फंड कंपनी की मैं अपना निवेश कैसे निकाल सकता हूं वेबसाइट से पहले ट्रांजैक्‍शन स्लिप डाउनलोड कर लीजिए और उसे अच्‍छी तरह भर लीजिए। इय रिडेंप्‍शन अप्लिकेशन को आप म्‍यूचुअल फंड कंपनी के आधिकारिक कार्यालय में जमा करवा सकते हैं। आप चाहें तो म्‍यूचुअल फंड कंपनियों की ऑनलाइन सुविधा का इस्‍तेमाल भी कर सकते हैं। कई म्‍यूचुअल फंड कंपनियां अपनी वेबसाइट के जरिए ऑनलाइन रिडेंप्‍शन (म्‍यूचुअल फंड यूनिट भुनाने) की सुविधा उपलब्‍ध कराती हैं। अगर आपने ऑनलाइन पोर्टल के जरिए निवेश किया है तो आप ऑनलाइन फैसिलिटी का इस्‍तेमाल करते हुए अपने यूनिट भी भुना सकते हैं।

यह भी पढ़ें : Step by Step Guide : ये है म्‍यूचुअल फंडों में निवेश शुरू करने का आसान तरीका, जानिए कैसे खुलता है खाता

इतने समय में मिल जाएंगे म्‍यूचुअल फंड के पैसे

अगर आपने लिक्विड या डेट ओरिएंटेड म्‍यूचुअल फंडों में निवेश किया हुआ है तो आपको एक से दो दिनों में पैसे मिल जाएंगे। इक्विटी फंडों का पैसा 4-5 दिनों में निवेशकों के पास आ जाता है। हां, ध्‍यान रखने लायक बात यह है कि अगर आपने इक्विटी फंडों में निवेश किया हुआ है और यूनिट खरीदने के 365 दिनों के भीतर उसे भुना रहे हैं तो आपको एक फीसदी का एक्जिट लोड देना पर सकता है। लिक्विड फंड, अल्‍ट्रा शॉर्ट टर्म फंड्स आदि पर कोई एक्जिट लोड नहीं लगता है।

यह भी पढ़ें : Step by Step Guide : ऐसे करें म्‍यूचुअल फंडों में छोटे निवेश से शुरुआत, कम रिस्‍क में मिलेगा बेहतरीन रिटर्न

आपके पास ऐसे आते हैं म्‍युचुअल फंड के पैसे

म्‍यूचुअल फंड का यूनिट भुनाने से प्राप्‍त होने वाले पैसे सीधे आपके बैंक खाते में हैं अगर आपने निवेश के समय बैंक की सारी डिटेल दी हुई है। अगर म्‍यूचुअल फंड कंपनी के पास आपकी बैंक की पूरी डिटेल नहीं है तो फिर आपको चेक से पैसे भेज दिए जाएंगे।

जार ऐप का इस्तेमाल कैसे करें?

जार में आप 4 आसान स्टेप की मदद से बचत और डिजिटल गोल्ड में निवेश कर सकते हैं:

  1. अपना जार अकाउंट बनाने के लिए अपने फोन नंबर से लॉगिन करें।
  2. अपने फ़ोनपे, गूगल पे या पेटीएम खाते से यूपीआई ऑटोपे सेटअप करें।
  3. अब जार को सोने की बेहतरीन दर पर रोज़ाना पैसे बचाने दें।
  4. अपने जार अकाउंट में जमा हुए सोने को तुरंत बेचने के लिए 'फ़ंड विथड्रॉ' ऑप्शन पर क्लिक करें और सीधे अपने ई-वॉलेट में पैसा पाएं। जार आपकी मोटी बचत को सुनिश्चित करने के लिए सोने की बेहतरीन दरें देता है।

अपनी तरह का पहला मेड इन इंडिया ऐप। एनपीसीआई और भारत के बेहतरीन यूपीआई सेवा प्रदाताओं के समर्थन से हम भारत में सोने में निवेश करने के लिए एक नया एप्लिकेशन पेश करने वाली पहली कंपनी हैं।

जार में आपको स्पिन द व्हील खेलने का विकल्प मिलेगा, जिसकी मदद से आप अपनी बचत दोगुनी कर सकते हैं।

आप जार पर हर लेनदेन के साथ पैसे बचाने की आदत डाल सकते हैं। जार ऐप पर आप हर लेन-देन के बाद स्पिन द व्हील (पहिया घुमाने) का विकल्प पाते हैं।

जार पर अपनी बचत को दोगुना करने या गेम खेलकर रोमांचक कैश-बैक जीतने का मौक़ा पाएं। इसलिए, ज़्यादा बचत के लिए ज़्यादा ख़र्च करें और ज़्यादा पैसे जीतें।

जार की मदद से आप अपना पैसा कहां लगाते हैं? ‍

आप जार के प्रीमियम डिजिटल गोल्ड इंवेस्टमेंट प्लान और ऑफर के साथ, छोटी-छोटी बचत (सोने की सर्वोत्तम दरों पर) कर सकते हैं।

100% सुरक्षित और आसान इस पेशकश की मदद से, आप हर लेन-देन पर अपने-आप 24 कैरेट सोना ख़रीद सकते हैं।

जार आपको अपने पैसों पर पूरा कंट्रोल देता है। सिर्फ़ कुछ बटन पर क्लिक करके आप इस प्रोसेस को रोक सकते हैं, फिर से शुरू कर सकते हैं या पैसे निकाल सकते हैं।

सोच रहे हैं यह डिजिटल गोल्ड क्या है?

‍डिजिटल गोल्ड वास्तविक सोना ही है। जगह बचाने और सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए इसे वर्चुअली स्टोर किया गया है।

एक क्लिक की मदद से आप जब चाहें इसे असली सोना में बदल सकते हैं। डिजिटल गोल्ड के फ़ायदे, ख़तरे और टैक्स से जुड़ी जानकारी के बारे में ज़्यादा जानें।

आप भविष्य के अपने सारे आर्थिक सपनों को पूरा करने के लिए जार बना सकते हैं:

जार की मदद से अपने आर्थिक सपनों को हासिल करने के लिए आप अपनी तरह के ‘कई जार’ बना सकते हैं। जैसे:

  1. अपनी शादी के लिए सोना ख़रीदना।
  2. माता-पिता की सालगिरह के लिए उपहार ख़रीदने के लिए पैसे बचाना।
  3. अपनी सोलो या फ़ैमिली ट्रिप के लिए बचत करना।
  4. बच्चे की शिक्षा के लिए फ़ाइनेंस की योजना बनाना।
  5. अपना व्यवसाय शुरू करने या अपने पसंदीदा शेयर में निवेश करने के लिए फ़ाइनेंस की योजना बनाना।
  6. बेहतर धन और वित्तीय योजनाओं के लिए पैसे बचाना।
  7. सुरक्षित भविष्य के लिए डिजिटल गोल्ड ख़रीदना।
  8. अपने सपनों की कार, घर, फ़ोन या लैपटॉप ख़रीदने के लिए बचत की योजना बनाना।
  9. आपातकालीन परिस्थितियों में पैसे की ज़रूरतों के लिए योजना बनाना।

जार को अपनी बचत और गोल्ड इनवेस्टमेंट का एक्सपर्ट बनाएं!

जार ऐप में बचत के प्रकार:

1. 10 से मैं अपना निवेश कैसे निकाल सकता हूं विभाजित होने वाली सबसे क़रीबी रक़म (डिफ़ॉल्ट): जार आपके लेन-देन को 10 से विभाजित होने वाली सबसे क़रीबी रक़म मानेगा।

उदाहरण के लिए: अगर आप 27 रुपए का लेन-देन करते हैं, तो जार इसे 10 से विभाजित होने वाली सबसे क़रीबी रकम मान लेगा। यानी, आपकी रकम 30 मानी जाएगी। अब जो तीन रुपए का अंतर आया, जार उसे अपने आप डिजिटल गोल्ड में निवेश कर देगा।

2. सबसे क़रीबी वह संख्या जिसके आख़िर में 5 का अंक हो: जार आपके लेन-देन को उस क़रीबी रक़म में बदल देगा जिसके अंत में 5 का अंक हो।

उदाहरण के लिए: अगर आप 22 रुपए का लेन-देन करते हैं, तो जार इसे सबसे क़रीबी वह रक़म मान लेगा जिसके अंत में 5 का अंक हो। यानी, आपकी रक़म 25 रुपए मानी जाएगी। अब जो तीन रुपए का अंतर आया, जार उसे अपने आप डिजिटल गोल्ड में निवेश कर देगा।

3. हर दिन 1 रुपए से लेकर 500 रुपए तक की एक निश्चित रकम की बचत: जार आपके हिसाब से हर लेन-देन को 10 या 5 से विभाजित होने वाली सबसे नज़दीकी रक़म में बदलता रहेगा। यह तब तक होगा जब तक कि रोज़ाना की रक़म 500 रुपए को न छू लें। यही कारण है कि जार ऐप को 500 रुपए तक के ऑटो-पे के लिए परमिशन की ज़रूरत होती है।

जार अकाउंट बनाने के लिए मुझे क्या-क्या चाहिए?

  1. एक वैलिड फ़ोन नंबर
  2. फ़ोनपे, गूगलपे, पेटीएम या भारत में किसी भी अन्य यूपीआई सेवा देने वाली कंपनी से जुड़ा एक यूपीआई खाता।

क्या जार ऐप में रजिस्टर करने के लिए केवाईसी ज़रूरी है?

फ़िलहाल, जार की मदद से पैसे की बचत करने के लिए केवाईसी वेरिफ़िकेशन की ज़रूरत नहीं है।

जार ऐप से कौन डिजिटल गोल्ड में निवेश कर सकता है?

18 वर्ष से अधिक उम्र का ऐसा कोई भी भारतीय नागरिक, जिसके पास बैंक अकाउंट है, वह जार में निवेश कर सकता है और रोज़ाना पैसे बचा सकता है।

मैं पैसे कब निकाल सकता हूं?

आप मैं अपना निवेश कैसे निकाल सकता हूं अपना पैसा कभी भी, कहीं भी निकाल सकते हैं। जार में कोई न्यूनतम लॉक-इन पीरियड नहीं है।

जानिए क्यों है म्यूचुअल फंड्स आपके लिए फायदे का मौका, कैसे और कब लगाएं पैसा, पढ़ें सभी सवालों के जवाब

आप Mutual Fund ब्रोकर या फिर डिस्ट्रीब्यूटर के ऑफिस पहुंच कर ऑफ लाइन तरीके से निवेश कर सकते हैं। इसमें भी आपको फार्म भर कर केवाईसी की शर्तों को पूरा करना होगा। आप म्यूचुअल फंड की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर घर बैठे स्कीम में निवेश कर सकते हैं.

नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। निवेश एक ऐसी प्रकिया है जिसकी योजना तो सभी बनाते हैं लेकिन इस पर समय से फैसला बेहद कम ही लोग ले पाते हैं. दरअसल निवेश को लेकर लोगों के मन में इतने सवाल होते हैं कि इनका जवाब तलाशते तलाशते वक्त हाथ से निकल जाता है. अगर आप भी Mutual Fund में निवेश करने की योजना बना मैं अपना निवेश कैसे निकाल सकता हूं रहे हैं लेकिन अपने ही सवालों से परेशान हैं तो आज हम आपके सामने ऐसे 4 सबसे ज्यादा उठने वाले सवालों के जवाब लेकर आएं हैं. इन्हें पढ़ें और इससे पहले कि निवेश का सही वक्त निकल जाए आप फैसला लें और अपनी मेहनत की कमाई से अपना भविष्य बना लें.

Commodity market is affected by these reasons, you should also know the reason

आज ही शुरू करें अपना शेयर मार्केट का सफर, विजिट करें- https://bit.ly/3n7jRhX

क्यों करें म्यूचुअल फंड में निवेश?

ये सवाल सभी लोगों के दिमाग में सबसे पहले आता है। आप जानते ही हैं कि हर तरह के निवेश में कम या ज्यादा जोखिम रहता ही है, और निवेश पर रिटर्न इस बात पर निर्भर करती है कि आप कितना जोखिम उठा रहे हैं. अक्सर ऊंचे रिटर्न के लालच में आम लोग अपनी बड़ी रकम गंवा देते हैं वहीं कुछ लोग रकम गंवाने के डर से बेहतर निवेश पाने की कोशिश ही नहीं करते और पारंपरिक निवेश विकल्पों में पैसा लगा देते हैं जो अक्सर बढ़ती महंगाई में नुकसान का सौदा बन जाते हैं। Mutual Fund आम निवेशकों के जोखिम को कम करता है और बेहतर रिटर्न देने की कोशिश करता है। म्यूचुअल फंड में आम लोग छोटी छोटी रकम से कम जोखिम के साथ निवेश की शुरुआत कर सकते हैं और आपके इस छोटे निवेश पर भी बाजार के एक एक्सपर्ट की लगातार नजर रहती है, जो पूरी कोशिश करता है कि आपका रिटर्न बाकी लोगों से ऊंचा रहे। वहीं निवेश क्यों करें, इस सवाल का जवाब पाने के लिए आप 5Paisa की भी मदद ले सकते हैं. 5paisa के एप या वेबसाइट पर जाकर आप म्यूचुअल फंड्स के प्रदर्शन पर नजर डाल सकते हैं वहीं इन स्कीम के फायदों की भी जानकारी ले सकते हैं. जिससे आपको ये समझने में काफी आसानी होगी कि एमएफ में क्यों निवेश किया जाना चाहिए .

Public Provident Fund: know all benefits of PPF Account

किस म्यूचुअल फंड स्कीम में करें निवेश?

इस सवाल का जवाब पाने के लिए पहले आपको ये तय करना होगा कि आप आने वाले समय में इस रकम से क्या करना चाहते हैं. दरअसल MF scheme कई तरह की होती हैं और वे अलग अलग रिटर्न के आधार पर प्लान की जाती. यानि आपको सुरक्षित लेकिन एफडी से बेहतर रिटर्न चाहिए तो डेट फंड आपके लिए हैं. वहीं आप कम समय में तेज कमाई करना चाहते हैं लेकिन मार्केट में उतरने से डरते हैं तो आपके लिए इक्विटी आधारित कई स्कीम मौजूद है। बच्चों की पढ़ाई, उनकी शादी यहां तक कि कुछ सालों बाद फॉरेन ट्रिप के लिए भी Mutual Fund की मदद ले सकते हैं। आपको करना ये है कि पहले अपना जोखिम लेने का स्तर चुने और फिर अपनी जरूरत का कैलकुलेशन करें और फिर बाजार में रिसर्च करें.या फिर आप बाजार के किसी काबिल जानकार की भी मदद ले सकते हैं जो आपको आपका लक्ष्य हासिल करने के लिए सबसे अच्छे विकल्प बताएगा। 5Paisa भी आपको आपकी जरूरतों और जोखिम के स्तरों के आधार पर एमएफ स्कीम चुनने में मदद करता है. जिससे आप अपना रिटर्न बढ़ा सकते हैं। ये एक डीआईवाई प्लेटफार्म है यानि यहां आप सिर्फ निवेश ही नहीं करते बल्कि निवेश, रणनीतियों और बाजार को समझते और सीखते भी हैं जिसकी वजह से आप अपनी पूरी संतुष्टि के साथ फैसला लेने के लिए स्वतंत्र हो जाते हैं।

कब करें म्युचुअल फंड में निवेश?

MF scheme के रिटर्न पर नजर डालें तो निवेशकों को इसका असली फायदा लंबी अवधि में दिखता है.वहीं लंबी अवधि का नजरिया लेकर चलने पर आप बेहद छोटी रकम को बढ़ता हुआ भी देखते हैं. अगर आप 5 Paisa के म्यूचुअल फंड कैलकुलेटर की मदद लेंगे तो आपको पता चलेगा कि कैसे लंबी अवधि में छोटी रकम बड़ी संपत्ति में बदल जाती है. और इससे आपको बाजार में समय पर निवेश के फायदे साफ दिखते हैं। बाजार के सभी जानकार मानते हैं कि म्यूचुअल फंड्स में इंश्योरेंस की तरह ही जितनी जल्दी हो निवेश की शुरुआत कर देनी चाहिए. दरअसल युवावस्था में खर्च सीमित किए जा सकते हैं. हालांकि जिम्मेदारी बढ़ने के साथ ये संभव नहीं होता। ऐसे में अगर आपकी नई जॉब लगी हो तो बेहतर है पहली सैलरी से मिठाई खरीदने के साथ एक mutual fund scheme में पैसा लगाना आपके लिए काफी फायदे का सौदा होगा। हालांकि आपने समय बीतने के साथ भी निवेश नहीं किया है तो भी जितनी जल्दी शुरुआत करने का फायदा उतना ज्यादा होगा।

कैसे करें म्युचुअल फंड में निवेश?

Mutual Fund में निवेश आप कई तरीकों से कर सकते हैं। आप जिस स्कीम में निवेश करना चाहते हैं उस स्कीम से जुड़े फंड हाउस में जाकर ऑफलाइन तरीके से निवेश कर सकते हैं। इसके लिए आपको पहले अपनी और स्कीम की पूरी जानकारियों के साथ फॉर्म भरना होगा और केवाईसी की शर्तें पूरी करनी होगी साथ ही चेक या डीडी के जरिए भुगतान करना होगा, अगर आप एसआईपी ले रहें हैं तो आपको कैंसिल चेक देने होंगे।

आप Mutual Fund ब्रोकर या फिर डिस्ट्रीब्यूटर के ऑफिस पहुंच कर ऑफ लाइन तरीके से निवेश कर सकते हैं। इसमें भी आपको फार्म भर कर केवाईसी की शर्तों को पूरा करना होगा। आप म्यूचुअल फंड की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर घर बैठे स्कीम में निवेश कर सकते हैं. यहां आपको ई-केवाईसी के लिए डाक्यूमेंटस अपलोड करने होंगे. पैसों मैं अपना निवेश कैसे निकाल सकता हूं का भुगतान ऑनलाइन किया जा सकता है। आप इसी तरह ब्रोकर की वेबसाइट पर भी जाकर निवेश कर सकते हैं।

कई fund house और broker app निवेश की सुविधा भी देती हैं. इसमें आपको एप डाउनलोड कर eKYC की शर्तों को पूरा करना होगा। 5paisa भी एक ऐसा ही ऐप है। जिसके जरिए शेयर बाजार और Mutual Fund में पैसा लगाने और निकलाने की सुविधा मिलती है. 5paisa देश का सबसे तेजी से बढ़ने वाला डिस्काउंट ब्रोकर ऐप है. एक करोड़ से ज्यादा लोग इस ऐप के साथ जुड़ चुके हैं. इसकी एक और खासियत है. यहां म्यूचुअल फंड में निवेश पर कोई कमीशन नहीं देना होता है। तो अब ज्यादा का सोचना फोन उठाएं और जुड़ जाएं।

रेटिंग: 4.28
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 793