Cryptocurrency की दुनिया आज पिछले कुछ सालों के मुकाबले कहीं ज्यादा आम हो गई है. शंका, डर और अनिश्चितता के फेज़ से गुजरकर आज के वक्त में क्रिप्टोकरेंसी निवेशकों के बीच निवेश का एक पॉपुलर टूल बन गई हैं. यहां तक कि इन्हें लेकर बड़ी कंपनियों में स्वीकार्यता भी बढ़ी है और पेमेंट के अल्टरनेट मोड में क्रिप्टोकरेंसी (payment in cryptocurrency) को स्वीकारा जाने लगा है. हालांकि, इस सबके बावजूद क्रिप्टोकरेंसी अब भी जबरदस्त उतार-चढ़ाव (highly volatile) का शिकार होने वाला डिजिटल असेट है. ऐसे में इस बाजार में निवेश करने से पहले कुछ चीजें हैं जो जान लीजिए और जिनके लिए खुद को तैयार कर लेना चाहिए.

वर्ष 2022 में उच्च रिटर्न देने वाले भारत में शीर्ष 10 सर्वश्रेष्ठ इन्वेस्टमेंट प्लान

निवेश भारत में संपत्ति बनाने का एक महत्वपूर्ण तरीका है. यह महंगाई को हराने, फाइनेंशियल लक्ष्यों को पूरा करने और अपने आर्थिक भविष्य को स्थिर बनाने में मदद करता है. अपने बैंक अकाउंट में पैसे को रखने की बजाय, आप स्टॉक्स, शेयर्स, म्यूचुअल फंड और फिक्स्ड डिपॉजिट जैसे विभिन्न विकल्पों में इन्वेस्ट कर सकते हैं.

यह आपको फाइनेंशियल लक्ष्यों को प्राप्त करने और भारत के टॉप इन्वेस्टमेंट विकल्पों में इन्वेस्ट करके सुरक्षित जीवन जीने के लिए, भविष्य के लिए फाइनेंशियल सुरक्षा बनाने में मदद कर सकता है.

मार्केट में कुछ इन्वेस्टमेंट प्लान हैं, जिनमें उच्च स्तर के जोखिम होते हैं और अन्य एसेट क्लास की तुलना में लॉन्ग-टर्म में लाभकारी रिटर्न जनरेट करने की क्षमता होती है.

कई इन्वेस्टमेंट प्लान उपलब्ध होने के कारण, सही विकल्प चुनना चुनौतीपूर्ण हो सकता है. नीचे कुछ इन्वेस्टमेंट प्लान दिए गए हैं, जो सेविंग को बढ़ाने में मदद कर सकते हैं.

भारत में सर्वश्रेष्ठ इन्वेस्टमेंट प्लान

अगर आप सोच रहे हैं कि पैसे कहां इन्वेस्ट करें, तो यहां कुछ प्रकार के इन्वेस्टमेंट दिए गए हैं जिन्हें आप चुन सकते हैं:

स्टॉक्स

स्टॉक किसी कंपनी या इकाई के स्वामित्व में हिस्सेदारी को दर्शाते हैं. स्टॉक लॉन्ग-टर्म इन्वेस्टर के लिए ज़्यादा रिटर्न प्राप्त करने के लिए सर्वश्रेष्ठ इन्वेस्टमेंट विकल्पों में से एक हैं. लेकिन, ये मार्केट के उतार-चढ़ाव से जुड़े होते हैं, इसलिए पूंजी की हानि का जोखिम हमेशा बना रहता है.

फिक्स्ड डिपॉजिट

जोखिम से बचने वाले इन्वेस्टर के लिए, फिक्स्ड डिपॉजिट एक आदर्श इन्वेस्टमेंट विकल्प है. एफडी आपके डिपॉजिट पर सुरक्षित रिटर्न प्रदान करती है और इस पर मार्केट के उतार-चढ़ाव का कोई प्रभाव नहीं पड़ता है. उच्च-जोखिम लेने वाले इन्वेस्टर भी अपने पोर्टफोलियो को स्थिर बनाने के लिए एफडी, आरईआईटीएस और क्रिप्टो में इन्वेस्ट करने का विकल्प चुनते हैं.

आपको अपने पैसे कहां इन्वेस्ट करने चाहिए?

अपनी जोखिम क्षमता के आधार पर, आप या तो मार्केट-लिंक्ड या मार्केट से अप्रभावित रहने वाले इंस्ट्रूमेंट में इन्वेस्ट करने का विकल्प चुन सकते हैं. मार्केट से जुड़े इन्वेस्टमेंट में अधिक रिटर्न मिलते हैं, लेकिन ये हमेशा सर्वश्रेष्ठ इन्वेस्टमेंट प्लान नहीं होते क्योंकि इनमें पूंजी खोने का जोखिम रहता है. तुलना में, फिक्स्ड डिपॉजिट जैसे इन्वेस्टमेंट टूल, फंड की अधिक सुरक्षा प्रदान करते हैं. बजाज फाइनेंस एक ऐसा फाइनेंसर है जो उच्च एफडी दरों और फंड की सुरक्षा का दोहरा लाभ प्रदान करता है.

अधिकांश इन्वेस्टमेंट विकल्पों में कुछ अस्थिरता होती है, और आमतौर पर जब जोखिम का स्तर अधिक होता है, तो इन्वेस्टमेंट पर रिटर्न भी अधिक होता है. इसलिए, अक्सर इन्वेस्टमेंट के निर्णय इन्वेस्टर्स की जोखिम क्षमता के आधार पर लिए जाते हैं.

कम जोखिम वाले इन्वेस्टमेंट: फिक्स्ड-इनकम विकल्पों में बॉन्ड, डिबेंचर, फिक्स्ड डिपॉजिट स्कीम, और सरकारी सेविंग स्कीम शामिल हैं.

Investment Guide: नया SIP खोलने में अब देर नहीं करें, Stock Market लुढ़कने से बना बंपर कमाई का मौका

Edited by: Alok Kumar @alocksone
Published on: May 12, 2022 13:17 IST

SIP- India TV Hindi

Photo:FILE

Highlights

  • बाजार में जितनी गिरावट, एसआईपी के लिए वह उतना ही अच्छा
  • बाजार गिरने पर आप कम पैसे में ज्यादा यूनिट खरीद पाएंगे
  • म्यूचुअल फंड में कम रिस्क पर ज्यादा कमाई का मौका मिलता है

Investment Guide: शेयर बाजार में गिरावट रुकने का नाम नहीं ले रहा है। सेंसेक्स आज भी 1000 अंक से अधिक टूट चुका है। बाजार में चौतरफा बिकवाली से इक्विटी निवेशकों में घबराहट है। हालांकि, यह Mutual Fund निवेशकों के लिए मौका भी है। पर्सनल फाइनेंस एक्सपर्ट का कहना है कि बाजार में जोरदार बिकवाली से अच्छी कंपनियों के शेयर सस्ते में मिल रहे हैं। ऐसे में निवेशक नया SIP शुरू कर म्यूचुअल फंड के जरिये शानदार गाइड निवेश करने के लिए नया रिटर्न प्राप्त कर सकते हैं। इसी तरह के हालात मार्च, 2020 में बने थे तो म्यूचुअल फंड निवेशकों को बंपर रिटर्न मिला था। एक बार फिर मौका बना है। ऐसे में निवेशक लंबी अवधि में शानदार रिटर्न प्राप्त करने के लिए अभी से निवेश शुरू कर सकते हैं।

म्यूचुअल फंड में कम रिस्क पर ज्यादा कमाई

वित्तीय विशेषज्ञों का कहना है कि गिरावट से उबरकर बाजार जब फिर से बुल रन की राह पर लौटेगा तो म्यूचुअल फंड निवेशकों को जबरदस्त कमाई कराएगा। मौजूदा समय में कम जोखिम के साथ निवेश करने के लिए म्यूचुअल फंड (Mutual Fund) सबसे सही विकल्प है। नए इन्वेस्टर्स को इक्विटी में सीधे एक्सपोजर के बजाय उन म्यूचुअल फंड का रास्ता अपनाना चाहिए, जिनका पोर्टफोलियो डायवर्स हो लेकिन इक्विटी में हिस्सेदारी ज्यादा हो।

विशेषज्ञों का कहना है कि अगर शेयर बाजार का इतिहास देखें गाइड निवेश करने के लिए नया तो पाएंगे कि हर बड़ी गिरावट के बाद जबरदस्त तेजी आई है। गिरावट के दौर में बाजार को समझना मुश्किल होता है, लेकिन निवेश करने का यही सबसे अच्छा समय होता है। बाजार में जितनी गिरावट आएगी, एसआईपी के लिए वह उतना ही अच्छा होगा, क्योंकि आप उतने ही पैसे में ज्यादा यूनिट खरीद सकते हैं।

Equity funds: बैंकिंग फंड ने किया बेहतर

अक्‍टूबर और नवंबर के दौरान बाजार में अच्‍छी रिकवरी देखने को मिली. जिसके बाद वोलेटिलिटी फिर हावी गाइड निवेश करने के लिए नया हो गई. ओवरआल सितंबर के बाद से लार्जकैप में रिकवरी आई और इस कैटेगिरी ने आउटपरफॉर्म किया है. मिडकैप और स्‍मालकैप में पिछले कुछ दिनों से रिकवरी शुरू हुई है. ओवरआल बाजार में बहुत ज्‍यादा करेक्‍शन नहीं दिख रहा है, ऐसे में मिडकैप और स्‍मालकैप में रिकवरी जारी रह सकती है. ग्‍लोबल फंड्स ने भी पिछले 3 महीने में आउटपरफॉर्म किया है. टेक कैटेगिरी में गिरावट रही है.

बैंकिंग फंड ने शानदार प्रदर्शन किया है. यह आगे भी जारी रहने वाला है. बैंकिंग फंड में 1 साल का औसत रिटर्न 30 फीसदी के आस पास है, जबकि लाजर्लकैप में 20 फीसदी. फार्मा फंड्स ने अंडरपरफॉर्म किया है. वैल्‍यू और कांट्रा फंड ने भी बेहतर प्रदर्शन किया है.

2023 में ये फंड दे सकते हैं हाई रिटर्न

कैटेगिरी: लार्जकैप फंड

ICICI Prudential Bluechip Fund
IDFC Large Cap Fund
Nippon India Large Cap Fund
Mirae India Largecap Fund

कैटेगिरी: लार्ज एंड मिडकैप फंड

Axis Growth Opportunities Fund
HDFC Large and Midcap Fund
ICICI Pru Large and Midcap Fund
Kotak Equity Opportunities Fund
SBI Large and Midcap Fund
Sundaram Large and Midcap Fund

कैटेगिरी: मिडकैप फंड

HDFC Midcap Opportunities Fund
ICICI Pru Midcap Fund
Kotak Emerging Equity Fund
Nippon India Growth Fund
PGIM India Midcap Fund
Tata Midcap Fund
UTI Midcap Fund

कैटेगिरी: स्‍मालकैप फंड

HDFC Smallcap Fund
ICICI Pru Smallcap Fund
Invesco Smallcap Fund
Kotak Smallcap Fund
Nippon Small Cap Fund

5. थोड़ा धैर्य रखें

क्रिप्टोकरेंसी मार्केट की वॉलेटिलिटी यानी अस्थिरता के बारे में जितना चेताया जाए, उतना कम है. ऐसे में यह जरूरी है कि आप थोड़ा धैर्य रखें. मार्केट की चाल अच्छी है या बुरी, बदल जाएगी. हमेशा ठंडे दिमाग से रणनीति के तहत फैसले लें.

blockchain

6. एक नई ईमेल ID रखना बेहतर

क्रिप्टोकरेंसी ट्रेडिंग, क्रिप्टो एक्सचेंज पर या peer-to-peer नेटवर्क पर होती है. प्लेटफॉर्म्स पर ट्रेडिंग के लिए आपको ईमेल आईडी के जरिए अकाउंट खोलना पड़ता है. डेटा सुरक्षित रखने के लिए जरूरी है कि आप क्रिप्टो का अपना पूरा निवेश और ट्रेडिंग वगैरह एक दूसरे आईडी पर रखें. इसके लिए एक अलग ईमेल आईडी बना लें.

क्रिप्टोकरेंसी को ऑनलाइन और ऑफलाइन वॉलेट में स्टोर किया जा सकता है. नए निवेशकों के लिए ऑनलाइन वॉलेट बेस्ट होता है, हालांकि, इसमें हैकिंग का डर ज्यादा होता है. ऐसे में दोनों वॉलेट को अच्छी तरह समझ लें और जो फिट लगे, वो चूज़ करें.

8. मोबाइल वॉलेट में अपनी पूरी करेंसी स्टोर न करें

इसमें कोई दोराय नहीं है कि मोबाइल वॉलेट्स बहुत ही सुविधाजनक होते हैं, लेकिन इनका हैक होना भी बहुत आसान होता है. ऐसे में कभी भी अपनी पूरी क्रिप्टोकरेंसी मोबाइल वॉलेट में स्टोर न करें.

चूंकि क्रिप्टोकरेंसी पर किसी संस्था का नियमन नहीं होता है, ऐसे में इससे होने वाले प्रॉफिट पर आपको भारी टैक्स देना पड़ सकता है. ऐसे में क्रिप्टोकरेंसी निवेश और टैक्स को लेकर देश में क्या नियम हैं, वो सब जानने के बाद ही निवेश शुरू करें.

Equity Funds: 2023 में म्‍यूचुअल फंड्स से करनी है कमाई, निवेश के लिए ये हैं बेस्‍ट स्‍कीम

Equity Funds: 2023 में म्‍यूचुअल फंड्स से करनी है कमाई, निवेश के लिए ये हैं बेस्‍ट स्‍कीम

Banking Funds: साल 2022 में बैंकिंग म्‍यूचुअल फंड ने शानदार प्रदर्शन किया है.

Best Mutual Funds Schemes for 2023: शेयर बाजार में रिकॉर्ड हाई टच करने के बाद एक बार फिर उतार चढ़ाव देखने को मिल रहा है. हालांकि बाजार के लिए कई तरह की अनिश्चितताएं मौजूद हैं. कोविड-19 का नया वेरिएंट बाजार के लिए चिंता बन गया है. वहीं रेट हाइक के बीच ग्‍लोबल ग्रोथ में लगातार सुस्‍ती बनी हुई है. खासतौर से बड़ी अर्थव्‍यवस्‍थाओं में मंदी की आशंका है. हालांकि भारत की बात करें तो कई इकोनॉमिक इंडीकेटर्स पॉजिटिव हैं और डोमेस्टिक ग्रोथ को सपोर्ट कर रहे हैं. ब्रोकरेज हाउस आईसीआईसीआई सिक्‍योरिटीज गाइड निवेश करने के लिए नया का कहना है कि आने वाले महीनों में भारतीय शेयर बाजार का प्रदर्शन बेहतर रह सकता है. मौजूदा समय में गिरावट पर खरीदारी बेहतर स्‍ट्रैटेजी होगी.

बाजार का कैसा है वैल्‍युएशन

ब्रोकरेज हाउस आईसीआईसीआई सिक्‍योरिटीज के अनुसार भारतीय बाजार प्रीमियम वैल्‍युएशन पर ट्रेड कर रहे हैं. वन ईयर फारवर्ड बेसिस पर निफ्टी 19.4x P/E पर ट्रेड कर रहा गाइड निवेश करने के लिए नया है. यह इंडेक्‍स के लिए 10 साल के एवरेज से महंगा दिख रहा है. वहीं, S&P 500 इंडेक्‍स 10 ईयर फारवर्ड PE एवरेज के 20.3x की तुलना में वन ईयर फारवर्ड PE के 18.8x मल्‍टीपल पर ट्रेड कर रहा है. हालांकि, आर्थिक और कॉर्पोरेट दोनों मोर्चे पर बेहतर ग्रोथ आउटलुक के साथ-साथ बहुत कम इनफ्लेशन ट्रैजेक्‍टरी भारतीय बाजार के लिए प्रीमियम वैल्‍युएशन को सही से एक्‍सप्‍लेन कर रहा है.

म्‍यूचुअल फंड इंडस्‍ट्री का AUM पहली बार 40 लाख करोड़ को पार कर गया है. म्‍यूचुअल फंड इंडस्‍ट्री का AUM नवंबर में आलटाइम हाई 40.4 लाख करोड़ पहुंच गया. नवंबर में बाजार की तेजी में इक्विटी ओरिएंटेड फंड का प्रदर्शन बेहतर रहने से ऐसा हुआ. इक्विटी ओरिएंटेड फंड का कुल AUM 15.6 लाख करोड़ हो गया, जो अक्‍टूबर 2022 में 15.2 लाख करोड़ था. नवंबर में इनफ्लो 9390 करोड़ से घटकर 2250 करोड़ रहा है. एक्‍स-NFOs इंडस्‍ट्री में फरवरी 2021 के बाद पहली बार आउटफ्लो देखने को मिला. ओवरआल इनफ्लो 4 महीने में सबसे कम रहा. SIP इनफ्लो में लगातार ग्रोथ रही है और यह नवंबर में 13307 करोड़ हो गया.

Equity funds: बैंकिंग फंड ने किया बेहतर

अक्‍टूबर और नवंबर के दौरान बाजार में अच्‍छी रिकवरी देखने को मिली. जिसके बाद वोलेटिलिटी फिर हावी हो गई. ओवरआल सितंबर के बाद से लार्जकैप में रिकवरी आई और इस कैटेगिरी ने आउटपरफॉर्म किया है. मिडकैप और स्‍मालकैप में पिछले कुछ दिनों से रिकवरी शुरू हुई है. ओवरआल बाजार में बहुत ज्‍यादा करेक्‍शन नहीं दिख रहा है, ऐसे में मिडकैप और स्‍मालकैप में रिकवरी जारी रह सकती है. ग्‍लोबल फंड्स ने भी पिछले 3 महीने में आउटपरफॉर्म किया है. टेक कैटेगिरी में गिरावट रही है.

बैंकिंग फंड ने शानदार प्रदर्शन किया है. यह आगे भी जारी रहने वाला है. बैंकिंग फंड में 1 साल का औसत रिटर्न 30 फीसदी के आस पास है, जबकि लाजर्लकैप में 20 फीसदी. फार्मा फंड्स ने अंडरपरफॉर्म किया है. वैल्‍यू और कांट्रा फंड ने भी बेहतर प्रदर्शन किया है.

2023 में ये फंड दे सकते हैं हाई रिटर्न

कैटेगिरी: लार्जकैप फंड

ICICI Prudential Bluechip Fund
IDFC Large Cap Fund
Nippon India Large Cap Fund
Mirae India Largecap Fund

कैटेगिरी: लार्ज एंड मिडकैप फंड

Axis Growth Opportunities Fund
HDFC Large and Midcap Fund
ICICI Pru Large and Midcap Fund
Kotak Equity Opportunities Fund
SBI Large and Midcap Fund
Sundaram Large and Midcap Fund

कैटेगिरी: मिडकैप फंड

HDFC Midcap Opportunities Fund
ICICI Pru Midcap Fund
Kotak Emerging Equity Fund
Nippon India Growth Fund
PGIM India Midcap Fund
Tata Midcap Fund
UTI Midcap Fund

कैटेगिरी: स्‍मालकैप फंड

HDFC Smallcap Fund
ICICI Pru Smallcap Fund
Invesco Smallcap Fund
Kotak Smallcap Fund
Nippon Small Cap Fund

रेटिंग: 4.62
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 466