3. शुरूआत में ईडी ने वजीरएक्स के खिलाफ शो केस नोटिस जारी किया था। जिसमें कंपनी के ऊपर अज्ञात स्त्रोत से 2,790 करोड़ रुपये की क्रिप्टोकरेंसी को विदेश मुद्रा प्रबंधन अधिनियम 1999 का उल्लंघन करते हुए अनुमति के साथ ट्रांसफर किया गया।

1 बिटकॉइन कितने रुपए का आता है | Bitcoin Price In India Today 2022

1 बिटकॉइन कितने रुपए का आता है : क्या आप जानना चाहते हैं आज 1 बिटकॉइन का कीमत कितने रुपए होता हैं? आज के समय पर Bitcoin एक ट्रेंडिंग करेंसी बन गया है। एस वजह से हर कोई आजकल Bitcoin के बारे में बहुत सारे सर्च कर रहे हैं और इंटरनेट पर एक बिटकॉइन का कीमत क्या है यह लगातार सर्च करता रहता है।

लेकिन सबसे बड़ा समस्या यह है कि आपको बहुत कम वेबसाइट के अंदर ही Bitcoin Live Price Today दिखाया जाता है जो लेटेस्ट होता हैं. शायद आप जानते होंगे बिटकॉइन एक डिजिटल करेंसी है जिसके वजह से बिटकॉइन प्राइस इंडिया में इनका मुल्ल हर सेकेंड में करोड़ों रुपए की क्रिप्टोकरेंसी फ्रीज ही बदलता रहता है। इसके लिए हम हमेशा ही हमारी ऑडियंस को सलाह देते हैं Live Bitcoin Price Chart 2022 देखने के लिए, जिसके जरिए वह आज का करंट 1 बिटकॉइन कितने रुपए का आ रहा है इसके बारे में सटीक जानकारी पा सके.

1 बिटकॉइन कितने रुपए का आता है

अभी आप एक बिटकॉइन का कीमत रुपए में कितना होता है यह जानने के लिए बहुत ही उत्सुक हो गए होंगे. इसका सटीक जवाब देने के लिए आज हम आपके सामने आज का लाइव Bitcoin Price Today 2022 जो अभी इंडिया में बिटकॉइन प्राइस चल रहा है वह नीचे टेबल में प्रस्तुत किए हुए है.

1 बिटकॉइन का कीमत रुपए में (Live)👇

आप ऊपर दिए गए चार्ट को देखकर आज का एक बिटकॉइन क्रिप्टो करेंसी का कीमत जान पाएंगे. यह प्राइस चार्ट लास्ट 24 घंटे का पूरा डिटेल्स आपको दे देगा जहां पर आपको लाइव Bitcoin Ka Price जानने का मौका मिलेगा.

जैसे कि आप जानते हैं अन्य Cryptocurrency के जैसा Bitcoin भी एक डिजिटल करेंसी है जिसका प्राइस हर एक सेकेन्ट में बदलता रहता है। इसलिए अगर आप आज बिटकॉइन खरीदने का सोच रहे हैं तो आपको आज 1 बिटकॉइन कितने रुपए का आता है यह जानना बहुत ही जरूरी है। तो अगर आप एक बिटकॉइन का कीमत कितना रुपए है यह सटीक तरीके से जानते हैं तभी आप कोई भी ऑनलाइन प्लेटफॉर्म से बिटकॉइन खरीद सकते हैं वह भी सटीक मूल्य में.

1 बिटकॉइन क्या होता है?

1 बिटकॉइन का कीमत रुपए में जाने के बाद आपके मन में एक प्रश्न आ रहा करोड़ों रुपए की क्रिप्टोकरेंसी फ्रीज होगा कि एक बिटकॉइन का मतलब क्या होता है. इसके लिए आपको पहले बिटकॉइन क्या है इसके बारे में बखूबी से जाना पड़ेगा. Bitcoin एक डिजिटल क्रिप्टो करेंसी है जो एनक्रिप्टेड माध्यम में ही आपको खरीदना पड़ेगा. इसका मतलब यह है कि अगर आप कभी भी एक बिटकॉइन खरीदते हैं तो आपके पास कोई भी पेपर वर्क होगा ही नहीं।

अगर साधारण भाषा में बोला जाए तो १ बिटकॉइन एक क्रिप्टो करेंसी होता है जिसका कीमत अभी के टाइम पर 16,87,002। यह मूल्य कभी भी स्थिर नहीं रहता है, क्योंकि हर एक सेकंड में बिटकॉइन का भेलू बदलता रहता ही है एवं इस बिटकॉइन को बीटीसी (BTC) के नाम पर भी जाना जाता है।

1 बिटकॉइन का दाम कितना बढ़ेगा

अभी आप में से बहुत लोग एक बीटीसी का मूल्य जानने के बाद आप क मन में यह प्रश्न आ रहा होगा कि क्या मैं भविष्य के लिए कुछ बीटीसी को खरीद के रखो. इस प्रश्न का उत्तर आपको तभी मिलेगा जब आप एक बीटीसी का दाम कितने भरने वाला है इसका जवाब पाएंगे.

Patrika Opinion : ताकि क्रिप्टोकरेंसी के नाम पर न हो धोखा

एक वर्ष में क्रिप्टोकरेंसी में निवेश में जहां 73 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है, वहीं इससे जुड़े धोखाधड़ी के मामले 200 प्रतिशत बढ़ गए। चिंताजनक बात यह है कि क्रिप्टोकरेंसी अपराधियों और आतंकियों केे लिए वरदान साबित हो रही है। इसलिए यदि सरकार क्रिप्टोकरेंसी का नियमन करती है, तो इसका स्वागत किया जाना चाहिए।

cryptocurrency

भारत में क्रिप्टोकरेंसी पर कानून बनाने की दिशा में तेजी से काम शुरू हो चुका है। संसद के शीतकालीन सत्र में इससे संबंधित विधेयक को सदन के पटल पर रखा जाएगा। इस विधेयक को क्रिप्टोकरेंसी एवं आधिकारिक डिजिटल मुद्रा विनियमन विधेयक, 2021 नाम दिया गया है। हालांकि, अभी विधेयक की रूपरेखा पूरी तरह से सार्वजनिक नहीं हुई है, लेकिन प्राइवेट क्रिप्टोकरेंसी को सरकार प्रतिबंधित कर सकती है। यही वजह है कि ज्यादातर क्रिप्टोकरेंसी दबाव में हैं। विधेयक में सरकारी क्रिप्टोकरेंसी बनाने की दिशा में आगे बढऩे का प्रावधान भी किया गया है। देखना यह है कि यह कब तक अस्तित्व में आती है।

चरण 2: अपना केवाईसी सत्यापन (verification) पूरा करें

केवाईसी (KYC- Know your customer) एक वित्तीय संस्थान द्वारा ग्राहक की पहचान का अनिवार्य सत्यापन है। केवाईसी प्रक्रिया में विभिन्न दस्तावेज शामिल हैं जिनका उपयोग आपकी पहचान को सत्यापित करने के लिए किया जा सकता है जैसे वैध पहचान पत्र, उपयोगिता बिल, और इसी तरह। प्रोफाइल टैब पर क्लिक करें, और फिर ड्रॉपडाउन मेनू से पहचान (identification) विकल्प चुनें।

चरण 3: अपनी पहचान सत्यापित (verify) करें

अपना केवाईसी विवरण दर्ज करने के बाद, सत्यापन प्रक्रिया शुरू करने के लिए वेरीफाई (verify) बटन पर क्लिक करें। कृपया ध्यान दें कि जमा किए गए दस्तावेज़ केवल आपकी राष्ट्रीयता के अधिकारियों द्वारा जारी किए हुए होने चाहिए।

पुष्टि करें कि आपके केवाईसी सत्यापन को स्वीकार करने के लिए प्रस्तुत किए गए विवरण सटीक हैं। सत्यापन प्रक्रिया में कुछ समय लग सकता है, करोड़ों रुपए की क्रिप्टोकरेंसी फ्रीज जिसके बाद आपका खाता ट्रेडिंग के लिए तैयार हो जाएगा। आपके पास बुनियादी (basic) से उन्नत (advanced) सत्यापन मॉडल पर स्विच करने का विकल्प भी होगा।

चरण 5: बिनेंस पी2पी के माध्यम से INR में बिटकॉइन खरीदें

बिनेंस पी2पी (पीयर-टू-पीयर एक्सचेंज) एक ऐसा बाज़ार है जहाँ लोग लगभग किसी भी देश में अपनी शर्तों पर एक-दूसरे के साथ सीधे क्रिप्टो व्यापार कर सकते हैं। 70 से अधिक फिएट मुद्राओं के साथ, पी2पी मार्केटप्लेस भारतीय निवेशकों के लिए भारतीय रुपये में क्रिप्टोकरेंसी खरीदना और बेचना आसान बनाता है।

मार्केटप्लेस पर जाने के लिए, वॉलेट टैब पर क्लिक करें, और फिर ड्रॉपडाउन मेनू से पी2पी विकल्प पर क्लिक करें। आप यहां क्लिक करके भी मार्केटप्लेस जा सकते हैं।

बड़ी खबर: ईडी का देश के सबसे बड़े क्रिप्टो एक्सचेंज वजीरएक्स पर छापा, 64.67 करोड़ रुपये की संपत्ति फ्रीज

प्रवर्तन निदेशायल (ED) ने शुक्रवार को क्रिप्टो करेंसी एक्सचेंज के निदेशक ( WazirX Director of Crypto Currency Exchange) के यहां छापा मारा है। केंद्रीय जांच एजेंसी (Central investigative agency) ने बैंक से 64.67 करोड़ रुपये फ्रिज कर दिए हैं।

इंडिया डॉटकॉम की रिपोर्ट के मुताबिक, ईडी ने विदेशी मुद्रा प्रबंधन अधिनियम, 1999 के तहत वजीरएक्स के खिलाफ दो मामलों की जांच के तहत कार्रवाई की है। वजीरएक्स भारत में क्रिप्टो करेंसी एक्सचेंज की सबसे बड़ी कंपनी है। कथित तौर पर मनी लॉन्ड्रिंग और फॉरेन एक्सचेंज के नियमों के उल्लंघन पर कंपनी के खिलाफ ईडी ने कार्रवाई की है।

ईडी ने वजीरएक्स पर क्यों छापा मारा

1. ईडी ने 64.67 करोड़ रुपये की वजीरएक्स की बैंक संपत्ति को जब्त कर लिया है।

क्रिप्टो एक्सचेंज वजीरएक्स के खिलाफ ED की बड़ी कार्रवाई, करीब 65 करोड़ रुपए किए फ्रीज

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): केंद्रीय जांच एजेंसी एंफोर्समेंट डायरेक्टेरोट (ईडी) ने आज क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज वजीरएक्स की संपत्तियों को फ्रीज कर दिया है। ईडी ने फॉरेन एक्सचेंज से जुड़े नियमों के उल्लघंन के संदेह से जुड़ी जांच में यह कार्रवाई की है। कार्रवाई के तहत वजीरएक्स क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज के निदेशक समीर म्हात्रे के ठिकानों पर छापेमारी की है। ईडी ने उनके खातों को भी सीज कर लिया है। बताया जा रहा है उनके खातों में पड़ी 64.67 करोड़ रुपये की राशि को फ्रीज कर दिया है। कंपनी के निदेशक पर आरोप है कि उन्होंने क्रिप्टो संपत्तियों की खरीद और हस्तांतरण के माध्यम से धोखाधड़ी के पैसे की मनीलॉन्ड्रिंग में आरोपी इंस्टेंट लोन ऐप कंपनियों की मदद की है।

रेटिंग: 4.36
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 228