4- Transaction Fees – आपके Demat Account से होने वाले Share Buy Sell Transaction पर यह फीस लगती है.

what is demat account

अन्य विकल्पों के साथ हमारे मोबाइल ऐप पर आराम से ट्रेड करें.

पारदर्शिता और विश्वास के साथ, वैल्यू-आधारित प्रोडक्ट प्रदान किए जाते हैं.

डीमैट अकाउंट डिजिटल मोड पर ट्रेडिंग की सुविधा प्रदान करता है. यह स्टॉक मार्केट में ट्रेडिंग करने का पहला कदम है, विशेषकर अगर आप बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) में ट्रेड करना चाहते हैं. डीमैट अकाउंट के साथ, आप कमोडिटी, इक्विटी और म्यूचुअल फंड में डीमैट अकाउंट कहाँ खुलवाएं इन्वेस्ट करके फाइनेंशियल वेरिएबल के दौरान भी पैसे बना सकते हैं और उसे बढ़ा सकते हैं.डीमैट अकाउंट कहाँ खुलवाएं

बजाज फाइनेंशियल सिक्योरिटीज़ लिमिटेड आपको मुफ्त में अकाउंट खोलने की सुविधा देता है और किफायती सब्सक्रिप्शन प्लान में उपलब्ध कई ट्रेडिंग विकल्प प्रदान करता है. बीएफएसएल सुविधाजनक ऑनलाइन ट्रेडिंग के लिए पेपरलेस और आसान अकाउंट रजिस्ट्रेशन की सुविधा प्रदान करता है.

डीमैट अकाउंट में डिजिटल मोड में शेयर, बॉन्ड, म्यूचुअल फंड, एक्सचेंज ट्रेडेड फंड (ईटीएफ) आदि जैसी फाइनेंशियल सिक्योरिटीज़ होती हैं. शेयर मार्केट में ट्रेडिंग शुरू करने के लिए, डीमैट और ट्रेडिंग अकाउंट खोलना पहला चरण है. समय के साथ, महंगाई निवेशित पैसे की कीमत को कम करती है. स्टॉक मार्केट में इन्वेस्ट करने से आपको अपने पैसे को काम पर लगाने का और उसे सही तरीके से बढ़ाने डीमैट अकाउंट कहाँ खुलवाएं का अनुकूल अवसर मिलता है. बजाज फाइनेंशियल सिक्योरिटीज़ लिमिटेड के साथ आप ऑनलाइन मुफ्त* डीमैट डीमैट अकाउंट कहाँ खुलवाएं और ट्रेडिंग अकाउंट खोल सकते हैं.

डीमैट अकाउंट demat account का क्या मतलब होता है?

आज हम बात करेंगे डीमेट अकाउंट demat account होता क्या है,डिमैट अकाउंट demat account हम कैसे खोल सकते हैं. डिमैट अकाउंट demat account खोलने के क्या फायदे हो सकते हैं इसके बारे में हम विस्तारपूर्वक जानेंगे। आपको बता दें कि आप लोगों ने इसके बारे में एक नेट पर बहुत से पोस्ट पढ़े होंगे। पर कोई भी वेबसाइट आपको हिंदी में जानकारी नहीं बताएगी लेकिन हम आपको इसके बारे में हिंदी में अच्छे से समझाएंगे।

डिमैट अकाउंट demat account के जरिए ही लोग शेयर बाजार में शेयर खरीदे और बेच सकते हैं। इस अकाउंट को खुलवाने के लिए आपके पास पैन कार्ड का होना जरूरी है बिना पैन कार्ड के आप डीमेट अकाउंट demat account नहीं खोल सकते। कुछ साल पहले जब भी आप किसी कंपनी के शेयर खरीदे थे. तो कंपनी आपको उनसे जुड़े कुछ कागज भेजती थी वह कागज इस बात का सबूत होते थे कि आपने उस कंपनी में निवेश किया है, और उस कंपनी में शेयर खरीद रखे हैं पर डिमैट अकाउंट के आने के बाद सब बदल गया है ,इसके बारे में चलिए आपको बताते हैं.

डीमैट अकाउंट क्या है

आपको बता दें कि डिमैट अकाउंट Demat account में लोगों द्वारा शेयर खरीदने और बेचने के लिए इस्तेमाल किया डीमैट अकाउंट कहाँ खुलवाएं जाता है. जिस प्रकार हम अपने पैसे बैंक अकाउंट में रखते हैं उसी प्रकार से लोग डिमैट Demat account खाते में अपने शेयर रखते हैं. जब भी हम अपने बैंक खाते से पैसा निकालते हैं, तो वह हमें भौतिक रूप में मिलता है, लेकिन जब तक यह बैंक में है, वह डिजिटल मुद्रा डिजिटल मुद्रा है। जब भी हम डेबिट कार्ड debit card से कहीं पर पेमेंट करते हैं, तो किया भी डिजिटल पेमेंट digital payment यानी कि इलेक्ट्रॉनिक Money Transfer का एक रूप होती है. इसी तरह जब हमारे पास डिमैट अकाउंट Demat account में शेयर होते हैं तो हम उनको किसी दूसरे व्यक्ति के लिए Demat account में digitally ट्रान्सफर कर सकते हैं .

आसान शब्दों में बात की जाए तो शेयरों को Digitally यानी कि इलेक्ट्रॉनिक रूप में रखने की सुविधा को डिमैट कहते हैं. डीमैट का पूरा नाम “डिमैटरियलाइज़” सिक्योरिटी है यानी शेयरों को भौतिक रूप से बदलने की प्रक्रिया को डीमैटरियलाइज़ेशन कहा जाता है।

Documents जिनकी जरुरत होती हैं : –

Pan Card / Pan Card

Aadhar Card / Aadhar Card

2 passport size photographs

Canceled Check / Savings Bank Account Passbook

अगर आप सोच रहे हैं कि डीमेट अकाउंट demat account को खोलने में आपको ज्यादा पैसे खर्च करने पड़ेंगे तो आप गलत सोच रहे हैं आपको एक डिमैट अकाउंट खोलने में आप300 से 700 ₹ आसानी से demat account डीमैट अकाउंट कहाँ खुलवाएं खोल सकते हैं, और आप शेयरों में निवेश शुरू कर सकते हैं।demat account अकाउंट को खुलवाने के लिए आपको वैसे तो मात्र ₹300 या उससे कुछ ज्यादा रुपए खर्च करने पड़ते हैं पर डीमेट अकाउंट को चलाने के लिए डीपी आपसे कई तरह की फीस लेती है, हर चीज के लिए अलग फीस होती है.यह फिर अलग-अलग कंपनी में अलग-अलग हो सकती है.

आपको बता दें कि इसमें सबसे पहले जो फीस ली जाती है वह होती है अकाउंट ओपनिंग फीस opening fee इसके बाद अकाउंट को मैनेज करने के लिए जो फीस ली जाती है वह होती है एनुअल मैनेजमेंट annual management फीस या फिर कंपनी शुरुआत में ही ले लेती है और साल भर खाते को मैनेज करके फिर उसे रखा जाता है.

डीमैट खाता कौन खोलेगा

आपको बता दें कि यदि आप भारत में डीमेट अकाउंट खोलना चाहते हैं तो भारत में 2 संस्थाएं कार्य करती हैं पहली NSDL (National Securities Depository Limited) और दूसरी CDSL (central securities depository limited). इनके करीबन 500 से अधिक एजेंट है, जिनको डिपॉजिटरी डीमैट अकाउंट कहाँ खुलवाएं पार्टिसिपेंटdepository participants कहा जाता है. इनका काम खाता खुलवाना होता है और इन्हें आम भाषा में डीपी भी कहा जाता है. ऐसा जरूरी नहीं है कि डीपी कोई बैंक ही हो और सिर्फ वही डिमांड अकाउंट खोल सकती है इसके अलावा कोई भी कई संस्थाएं हैं जो कि डिमैट अकाउंट खोल सकती है इनमें से कुछ मुख्य संस्थाएं जैसे कि sharekhan,india infoline आदि है.

आप इनके दफ्तर जाकर भी डीमैट अकाउंट खुलवा सकते हैं या फिर आप अपने घर बैठे ही डिमैट अकाउंट ऑनलाइन इन ट्रेंड की मदद से खोल सकते हैं यह क्रिया बहुत ही सरल है और इसको खोलने के लिए आपके पास पैन कार्ड का डीमैट अकाउंट कहाँ खुलवाएं होना बहुत ही जरूरी है.

Step by Step Guide : ये है म्‍यूचुअल फंडों में निवेश शुरू करने का आसान तरीका, जानिए कैसे खुलता है खाता

Edited by: Manish Mishra
Updated on: May 13, 2018 14:08 IST

Step by Step Guide : ये है म्‍यूचुअल फंडों में निवेश शुरू करने का आसान तरीका, जानिए कैसे खुलता है खाता- India TV Hindi

Step by Step Guide : ये है म्‍यूचुअल फंडों में निवेश शुरू करने का आसान तरीका, जानिए कैसे खुलता है खाता

नई दिल्‍ली। चाहे आप किसी भी जानकार से मिलें, वे आपको यही सलाह देंगे कि निवेश से सबसे अधिक लाभ कमाने का बेहतरीन विकल्‍प म्‍यूचुअल फंड है। आप बैंकों के बचत खाते या फिक्‍स्‍ड डिपॉजिट या लाइफ इंश्‍योरेंस प्रोडक्‍ट्स में निवेश की तुलना में म्‍यूचुअल फंडों से कहीं अधिक रिटर्न पा सकते हैं। हां, किस फंड में निवेश किया जाए, यह इस बात पर निर्भर करता है कि आप कितने डीमैट अकाउंट कहाँ खुलवाएं समय के लिए निवेश करना चाहते हैं और आप अधिक रिटर्न पाने के लिए किस स्‍तर तक का रिस्‍क उठा सकते हैं।

फंडों में निवेश की शुरुआत के लिए आवश्‍यक दस्‍तावेज

बैंकों में खाता खुलवाने की तरह ही म्‍यूचुअल फंड में निवेश की शुरुआत करने के लिए कुछ दस्‍तावेजों की जरूरत होती है। इसके लिए आपके पास पैन, एक बैंक खाता और अपने ग्राहक को जानें (KYC) प्रक्रिया पूरी होनी चाहिए। बैंक खाता निवेशक के नाम का होना चाहिए। इसके अलावा चेक पर लिखे MICR (मैग्‍नेटिक इंक कैरेक्‍टर रिकॉग्निशन) और IFSC जैसी जानकारियों की जरूरत भी होती है।

KYC के लिए आपको पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ, पहचान पत्र के तौर पर पैन कार्ड या आधार कार्ड या पासपोर्ट या वोटर आईडी या ड्राइविंग लाइसेंस और पते के प्रमाण के तौर पर पासपोर्ट या ड्राइविंग लाइसेंस या राशन कार्ड या घर का लीज या सेल एग्रीमेंट या बैंक खाते का स्‍टेटमेंट (पता सहित) या पासबुक या हालिया टेलीफोन या बिजली का बिल चाहिए। ये दस्‍तावेज तीन महीने से अधिक पुराने नहीं होने चाहिए। इन दस्‍तावेजों का सेल्‍फ अटेस्‍टेशन करें और KYC फॉर्म के साथ ओरिजिनल डॉक्‍यूमेंट्स वेरिफिकेशन के लिए दें।

आज ही करा लें अपने इस अकाउंट केवाईसी, वर्ना एक अगस्‍त से हो जाएगा बंद

आज ही करा लें अपने इस अकाउंट केवाईसी, वर्ना एक अगस्‍त से हो जाएगा बंद

देश में बीते 14 महीनों में औसतन 13 लाख डमिैट अकाउंट खुले हैं।

अगर आप शेयर मार्केट में में ट्रेडिंग करते हैं। बांड या डिबेंचर्स में निवेश करते हैं। म्‍यूचुअल फंड या फ‍िर एसआईपी में इंवेस्‍ट करते हैं तो यह न्‍यूज आपके लिए ही है। इन सभी तरह की ट्रेडिंग के लिए आपको डिमैट अकाउंट की जरुरत पडती है। जिसका केवाईसी अनिवार्य हो गया है। जिसकी तारीख 31 जुलाई 2021 रखी गई है। अगर आपने इस तारीख तक अपने डिमैट अकाउंट का केवाईसी नहीं कराया तो आपका अकाउंट बंद हो जाएगा या यूं कहें कि डिएक्‍ट‍ीवेट हो जाएगा।

वास्‍तव में डिपॉजिटरीज नेशनल सिक्योरिटीज डिपॉजिटरी लिमिटेड और सेंट्रल डिपॉजिटरीज सर्विसेज लिमिटेड ने 7 अप्रैल 2021 और 5 अप्रैल 2021 को जारी सर्कुलर जारी किया था। जिसमें कहा गया था कि अकाउंट होल्डर्स को केवाईसी के लिए 6 जानकारी यानी नाम, पता, पैन नंबर, मोबाइल नंबर, ई-मेल आईडी डीमैट अकाउंट कहाँ खुलवाएं और इनकम रेंज आदि की जानकारी देनी होगी।

डीमैट एकाउंट कौन खोलता है – Who is Open Demat Account

भारत में Demat Account को खोलने के लिए दो सरकारी संस्थायें NSDL ( National Securities Depository Limited ) एवं CDSL ( Central Securities Depository Limited ) काम करती है. जिसके 500 से भी ज्यादा एजेंट काम कर रहे है, जिन्हे DP या Depository Participants कहा जाता है.

इसके साथ ही Demat Account को खोलने के लिए कुछ Private Institution भी काम करते हैं, जिसमें से कुछ India infoline, Sharekhan, Zerodha आदि है.

इसके साथ ही आप चाहे तो SBI, HDFC, PNB,ICICI, IDBI, KOTAK,AXIS जैसे बैंक में भी Demate Account खुलवा सकते हैं.

डीमैट एकाउंट में कौन-कौन से Charges लगते हैं – demat account opening charges

Demat Account Open करने से लेकर उसका रख-रखाव करने के लिए कई तरह के फीस चार्ज लगते हैं. जिसमें कुछ इस प्रकार है-

रेटिंग: 4.62
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 361