Cryptocurrency: क्रिप्टोकरेंसी में भी SIP के जरिए निवेश के विकल्प का ऑफर दे रहे क्रिप्टो स्टार्टअप्स, भारी उतार-चढ़ाव से बचने में मिलेगी मदद

Cryptocurrency News: SIP के जरिए क्रिप्टोकरेंसी के भाव में उतार चढ़ाव से बचने में आसानी होती है. और हर लेवल पर खरीदारी के चलते निवेशक का खरीद औसत मुल्य बेहतर होता है.

By: ABP Live | Updated at : 22 Mar 2022 04:46 PM (IST)

Investment In Cryptocurrency In SIP: बिट्कॉइन जैसे क्रिप्टोकरेंसी में निवेश इन दिनों निवेशकों को खुब लुभा रहा है. हालांकि जैसे कि शेयर बाजार का हाल है जिन निवेशकों के शेयर बाजार की कम जानकारी है वे म्यूचुअल फंड के जरिए बाजार में निवेश करते हैं. जिससे बाजार में निवेश के जोखिम से वे बच पाएं. ठीक उसी प्रकार क्रिप्टोकरेंसी में तो निवेशक निवेश करना चाहते हैं लेकिन कम जानकारी और 24 घंटे उसपर निगरानी रखने में असमर्थता के चलते निवेशक सीधे क्रिप्टोकरेंसी में निवेश के बचना चाहते हैं. ऐसे निवेशक अब म्यूचुअल फंड के समान SIP के जरिए क्रिप्टोककेंसी में निवेश कर सकते हैं.

इन दिनों कई क्रिप्टो में निवेश करने वाले एक्सचेंज SIP के जरिए क्रिप्टोकरेंसी में निवेश का विकल्प निवेशकों के लिए लेकर आए हैं. CoinsSwitch Kuber, क्रिप्टोकरेंसी में निवेश कैसे करें Bitbns जैसे प्लेटफॉर्म भी SIP के जरिए क्रिप्टोकरेंसी में निवेश का विकल्प निवेशकों को ऑफर कर रहे हैं. जानकारों के मुताबिक SIP के जरिए क्रिप्टोकरेंसी के भाव में उतार चढ़ाव से बचने में आसानी होती है. और हर लेवल पर खरीदारी के चलते निवेशक का खरीद औसत मुल्य बेहतर होता है और लंबी अवधि में निवेश पर म्यूचुअल फंड के समान बेहतर रिटर्न मिल सकता है.

कैसे कर सकते हैं निवेश
निवेशकों को सबसे पहले क्रिप्टो एक्सचेंज या फिर SIP के जरिए निवेश का ऑफर कर रहे इंवेस्टमेंट प्लेटफॉर्म को अकाउंट खोलना होगा. निवेशकों को केवाईसी के डॉक्यूमेंट्स ऑनलाइन अपजेट करना होगा. इसके बाद निवेशक प्लेटफॉर्म पर पैसे को लोड कर बिट्कॉइन एथेरियम जैसे किसी भी क्रिप्टोकरेंसी में SIP के जरिए निवेश कर सकता है.

म्यूचुअल फंड में निवेश के लिए कटऑफ टाइम होता है पर क्रिप्टोकरेंसी में ऐसा नहीं है क्योंकि ये 24 घंटे ट्रेड होता है. निवेशक मंथली SIP के अलावा डेली SIP भी कर सकते हैं जिससे क्रिप्टोकरेंसी में उतार चढ़ाव से बचा जा सके. क्रिप्टो एक्सचेंज क्रिप्टोकरेंसी में निवेश कैसे करें यूपीआई द्वारा ऑटोमेटेड पेमेंट स्वीकार करते हैं.

बहरहाल एक अप्रैल से 2022 से क्रिप्टोकरेंसी में निवेश से बोने वाले मुनाफे पर 30 फीसदी टैपिटल गेन टैक्स लगने लगेगा. सरकार क्रिप्टोकरेंसी को रेग्युलेटेड बता रही और अबी तक मान्यता नहीं दी है. लेकिन क्रिप्टोकरेंसी पर टैक्स इसे स्वीकार करने के संकेत के तौर पर ही देखा जा रहा है.

डिस्क्लेमर: (यहां मुहैया जानकारी सिर्फ़ सूचना हेतु दी जा रही है. यहां बताना ज़रूरी है की क्रिप्टोकरेंसी में निवेश जोखिमों के अधीन है. निवेशक के तौर पर पैसा लगाने से पहले हमेशा एक्सपर्ट से सलाह लें. ABPLive.com की तरफ से किसी को भी पैसा लगाने की यहां कभी भी सलाह नहीं दी जाती है.)

ये भी पढ़ें

Published at : 22 Mar 2022 04:46 PM (IST) Tags: Cryptocurrency Bitcoin SIP Ethereum Investment In Cryptocurrency In SIP हिंदी समाचार, ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें abp News पर। सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट एबीपी न्यूज़ पर पढ़ें बॉलीवुड, खेल जगत, कोरोना Vaccine से जुड़ी ख़बरें। For more related stories, follow: Business News in Hindi

Jagran Trending: क्‍या हैं Cryptocurrencies और ये कैसे करते हैं काम? जानें इनमें निवेश के नफा-नुकसान

Jagran Trending Cryptocurrency क्‍या हैं और ये कैसे काम करते हैं इसके बारे में विस्‍तार से जानकारी दी जा रही है। इस आर्टिकल में हम आपको क्रिप्‍टोकरेंसी में निवेश की शुरुआत कैसे करें से लेकर इसके तमाम नफा-नुकसानों के बारे में विस्‍तार से बता रहे हैं।

नई दिल्‍ली, मनीश कुमार मिश्र। Cryptocurrencies के बारे में आजकल हर कोई बात करता नजर आता है। शेयर बाजार की तरह ही अब प्रमुख क्रिप्‍टोरेंसीज के रेट्स सुबह-सुबह आपको सुर्खियों में देखने को मिल रही होगी। आइए, आज हम इन्‍हीं क्रिप्‍टोकरेंसीज के बारे में विस्‍तार से समझते हैं। Cryptocurrencies क्‍या हैं, ये कैसे काम करते हैं और इनमें निवेश के क्‍या नफा-नुकसान हैं।

क्‍या हैं Cryptocurrencies?

क्रिप्‍टोकरेंसी वास्‍तव में ब्‍लॉकचेन टेक्‍नोलॉजी पर आधारित डिसेंट्रलाइज्‍ड डिजिटल मनी है और इसे क्रिप्‍टोग्राफी (Cryptography) से क्रिप्टोकरेंसी में निवेश कैसे करें सुरक्षित किया गया है। अब आप जानना चाहेंगे कि यह Blockchain क्‍या है? आसान शब्‍दों में कहें तो क्रिप्‍टोकरेंसी के मामले में ब्‍लॉकचेन एक डिजिटल लेजर (बही-खाता) है, जिसके इस्‍तेमाल का अधिकार सिर्फ यूजर्स को होता है। यह लेजर कई तरह के एसेट्स के लेनदेन को रिकॉर्ड रखता है जिसमें पैसे, घर आदि जैसे एसेट्स शामिल होते हैं। ब्‍लॉकचेन का अधिकार यूजर्स के साथ साझा किया जाता है और खास बात यह है कि यहां उपलब्‍ध जानकारियां पूरी तरह पारदर्शी, तात्‍क‍ालिक और इतनी सुरक्षित होती हैं कि इसे यूजर्स क्‍या एडमिनिस्‍ट्रेटर भी इनमें किसी तरह का बदलाव नहीं कर सकते। अब सेंट्रलाइज्‍ड और डिसेंट्रलाइज्‍ड मनी का फर्क भी समझ लेते हैं। सेंट्रलाइज्‍ड मनी हमारे लिए रुपया है, जिसे भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा गवर्न किया जाता है। डिसेंट्रलाइज्‍ड मनी को गवर्न करने वाला कोई नहीं होता और इसके मूल्‍य में गिरावट या तेजी को सुपरवाइज करने वाली कोई अथॉरिटी नहीं होती।

Cryptocurrency का इतिहास

1980 में 'ब्‍लाइंडिंग एल्‍गोरिदम' की खोज हुई थी और क्रिप्‍टोकरेंसी के मूल में यही रहा है। यह एल्‍गोरिदम सभी डिजिटल लेनदेन को सुरक्षित और अभेद्य रखने से संबंधित है। 2008 में लोगों के एक समूह ने आज के क्रिप्‍टो मार्केट की क्रिप्‍टोकरेंसी Bitcoin बनाया और इसके सिद्धांत भी तैयार किए। बिटकाइन बनाने वाले लोगों के समूह का छद्म नाम 'सातोशी नाकामोतो' था। 2009 में दुनिया में Bitcoin को लॉन्‍च किया गया था। हालांकि, मर्चेंट्स को भुगतान के लिए इसके इस्‍तेमाल में वर्षों लग गए और 2012 में WordPress के लिए भुगतान Bitcoin से किया जाने लगा।

कैसे करें Cryptocurrency की खरीद-बिक्री

अगर आप क्रिप्‍टोकरेंसीज की खरीद-बिक्री करना चाहते हैं तो सेंट्रल एक्‍सचेंजों, ब्रोकर्स या किसी ऐसे व्‍यक्ति से इसकी खरीदारी कर सकते हैं जिसके पास यह हो। इन्‍हीं माध्‍यमों से आप इनकी बिक्री भी कर सकते हैं। एक बार खरीदारी के बाद Cryptocurrency आपके डिजिट वॉलेट में आ जाता है। Digital Wallets भी दो तरह के होते हैं- हॉट एवं कोल्‍ड। हॉट डिजिटल वॉलेट इंटरनेट से जुड़ा होता है और आप आसानी से अपने वॉलेट में पड़े क्रिप्‍टोकरेंसी की खरीद-बिक्री कर सकते हैं। हालांकि, इसमें चोरी होने और धोखाधड़ी का खतरा होता है। कोल्‍ड स्‍टोरेज सुरक्षित तो होता है लेकिन लेनदेन आसान नहीं रहता।

क्रिप्‍टोकरेंसी के जरिए लेनदेन

क्रिप्‍टोकरेंसी जैसे बिटकाइन को आप आसानी से एक डिजिटल वॉलेट से दूसरे वॉलेट में ट्रांसफर कर सकते हैं और इसके लिए आपके पास सिर्फ एक स्‍मार्टफोन होना चाहिए। अगर आपके पास क्रिप्‍टोकरेंसी है तो आप इसका इस्‍तेमाल किसी वस्‍तु या सेवाओं क्रिप्टोकरेंसी में निवेश कैसे करें को खरीदने में कर सकते हैं या इसकी ट्रेडिंग कर सकते हैं या इसके बदले नकदी ले सकते हैं।

Cryptocurrency के नफा-नुकसान

Cryptocurrencies प्राइवेट और सुरक्षित हैं। ये डिसेंट्रलाइज्‍ड और पारदर्शी भी, इसके डाटा के साथ कोई भी छेड़छाड़ नहीं कर सकता। कुछ निवेशक महंगाई के खिलाफ हेजिंग के लिए भी इसका इस्‍तेमाल करते हैं जैसे आम निवेशक गोल्‍ड का इस्‍तेमाल करते हैं। इन फायदों के साथ ही क्रिप्‍टोकरेंसी में निवेश के कुछ नुकसान भी हैं। बहुत सारे निवेशक क्रिप्‍टोकरेंसी को नहीं समझते हैं। हर करेंसी के पीछे कोई अंडरलाइंग वैल्‍यू होता है। उदाहरण के तौर पर सरकार देश में उपलब्‍ध सोने के आधार पर रुपये छापती है। क्रिप्‍टोकरेंसीज में कोई भी अंडरलाइंग वैल्‍यू नहीं होता। इनमें जबरदस्‍त उतार-चढ़ाव आता है और यहां सिर्फ मांग और आपूर्ति जैसा नियम लागू होता है। इन्‍हीं जोखिमों को देखते हुए कई देशों में क्रिप्‍टोरकरेंसी प्रतिबंधित हैं।

क्रिप्टोकरेंसी में निवेश कितना सुरक्षित है? कितना है प्रॉफिट और क्या हैं रिस्क? यहां पढ़ें

Cryptocurrencies एक तरह का eCash या डिजिटल करेंसी है. इसे इंटरनेट पर इस्तेमाल के लिए ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी के इस्तेमाल के जरिए क्रिएट किया जाता है. रुपये या डॉलर जैसी परंपरागत करेंसी की तरह आपको क्रिप्टोकरेंसी नोट या सिक्के में देखने को नहीं मिलेगी. आइए जानते हैं कि इसमें इंवेस्ट करना कितना सुरक्षित होता है.

Crypto

लीगल स्टेटस के बारे में जानिए
वर्तमान में क्रिप्टोकरेंसी भारत और दुनिया के अधिकतर देशों में लीगल टेंडर नहीं है. इसकी वजह ये है कि इन क्वाइन्स को प्राइवेट तरीके से क्रिएट किया जा सकता है और इस बात को लेकर अभी स्पष्ट समझ विकसित नहीं हो पाई है कि इस करेंसी की वजह से किस तरह का बदलाव देखने को मिल सकता है. हालांकि, भारत में क्रिप्टोकरेंसी में निवेश अवैध भी नहीं है. भारत में कई ऑनलाइन एक्सचेंज ऑपरेट कर रहे हैं, जिनके जरिए क्रिप्टोकरेंसी में ट्रेडिंग और इंवेस्टमेंट किया जा सकता है.

कितना सुरक्षित है इसमें निवेश

अभी तक के ट्रेंड को देखा जाए तो क्रिप्टोकरेंसीज एक तरह से वोलाटाइल इंस्ट्रुमेंट हैं. इसका मतलब ये है कि इसमें काफी अधिक उतार-चढ़ाव देखने को मिल सकता है. अगर आप गारंटीड रिटर्न के लिए इसमें पैसे लगाने की सोच रहे हैं तो फिर ये इंवेस्टमेंट विकल्प आपके लिए नहीं है. हालांकि, अगर आप जोखिम ले सकते हैं तो आप इस तथ्य को ध्यान में रख सकते हैं कि पिछले साल कुछ माह में ही एक Bitcoin की कीमत 30,000 डॉलर से 60,000 डॉलर पर पहुंच गई थी.

क्रिप्टोकरेंसी में निवेश के फायदे
कई क्रिप्टोकरेंसीज निवेश के पारंपरिक माध्यम की तुलना में बेहतर रिटर्न दे देती हैं. कई लोगों ने पिछले साल इससे काफी अधिक पैसे बनाए. तब इसमें Bull Run देखने को मिला था. अप्रैल, 2020 में एक Bitcoin की कीमत 6,640 डॉलर पर थी और पिछले साल अप्रैल में एक बिटक्वाइन की कीमत 65,000 डॉलर पर पहुंच गई. इस तरह एक साल में ही लोगों को जबरदस्त मुनाफा हुआ.

इसमें निवेश करने के जोखिम
इस साल की शुरुआत से लेकर अब तक क्रिप्टो मार्केट में जबरदस्त करेक्शन देखने को मिला है. अगर हम Bitcoin की ही बात करें तो यह एक बार 30,455.45 डॉलर के स्तर पर आ गया है. इस तरह आप देख सकते हैं कि इस एसेट में निवेश कितना जोखिम भरा है. इसके साथ दूसरी समस्या ये है कि आज के समय में इसे अधिकतर सामानों या सर्विसेज की खरीद के लिए यूज नहीं किया जा सकता है. क्रिप्टोकरेंसी को लेकर सरकार ने अब तक कोई रेग्युलेशन नहीं बनाया है, ऐसे में एक तरह का ट्रस्ट इश्यू भी देखने को मिलता है.

क्रिप्टोकरेंसी में निवेश कैसे करें? क्रिप्टो करेंसी कहां से खरीदें?

क्रिप्टो करेंसी में इन्वेस्ट करना बोहत जरुरी है क्युकी क्रिप्टोकोर्रेंसी एक ऐसा डिजिटल करेंसी है जिसे कोई भी ट्रैक नहीं कर सकता। इसलिए हर साल क्रिप्टो करेंसी की मार्किट तेज़ी से बढ़ रही है और क्रिप्टो कॉइन की कीमत भी बढ़ रही है। इसमें कोई संदेह नहीं है की क्रिप्टो करेंसी ही भविष्य में दुनिया की ट्रेड करेंसी (वर्ल्ड करेंसी) बनेंगे।

क्रिप्टोकरेंसी में निवेश कैसे करें? How क्रिप्टोकरेंसी में निवेश कैसे करें to Invest in Crypto in Hindi

मेरा मुताबिक, कम से कम 2022 में हर उस इंसान को क्रिप्टो में निवेश करना चाहिए जो क्रिप्टो के बारे में जानते है। क्रिप्टोकोर्रेंसी के बारे में ज़्यादा जानकारी नहीं चाहिए, बस यह पता होना चाहिए की Cryptocurrency क्या है? और क्रिप्टो में निवेश कैसे करें? इतना ही काफी होगा क्युकी यह कोई बिज़नेस नहीं है। आप अभी पैसे निवेश करके आगे 10 साल के लिए यदि भूल सकते है तो फिर आपको क्रोरेपति बनने में कोई नहीं रुख सकता।

क्रिप्टो करेंसी में पैसे निवेश करना बहुत ही आसान है, बस आपको एक क्रिप्टो ट्रेडिंग एप्लीकेशन में (Sign Up) अकाउंट बनाना है। फिर आपका अकाउंट डॉक्यूमेंट और सेल्फी अपलोड करके वेरीफाई कराना है। और फिर आप जितना मर्जी क्रिप्टो में पैसे निवेश कर सकते हैं। आप चाहे तो क्रिप्टो करेंसी में 100 रूपया भी निवेश कर सकते है। पैसे निवेश करने के लिए

  • Crypto ट्रेडिंग App Install करना है
  • Sign Up / Account Create पे Click करना है
  • कुछ जानकारी देना है, जैसे ईमेल, पासवर्ड, etc
  • Documents और Selfi upload करना है
  • Account Verify होना है
  • Wallet पे पैसे load करना है
  • Crypto Coin सेलेक्ट करना है
  • फिर Coin पे Click करना है
  • Buy/Sell दो option आएगा
  • Buy पे Click करना है
  • अब Coin / Amount डालना है
  • Procced to Payment पे Click करना है
  • Wallet से Payment काट जायेगा
  • तुरंत Coin आपकी Portfolio पे आएगा

इस तरीके से आप क्रिप्टो करेंसी में जितना पैसे चाहे निवेश कर सकते है। भारत में सबसे ज़्यादा लोग Coin Switch Kuber क्रिप्टो ट्रेडिंग कंपनी पे पैसे इन्वेस्ट करते है। भारत में CoinSwitch अकेला क्रिप्टो ट्रेडिंग App नहीं है और भी बोहत सारा App है लेकिन लोग सबसे ज़्यादा CoinSwitch पर ही trust करते है। बाकि आप चाहे तो इन्वेस्ट कर सकते है बिना कोई टेंशन लिए, Mutual Fund जैसा।

India's No.1 Crypto Trading App
App Name CoinSwitch
Annual Charge FREE
Account Open Link Registration Here

CoinSwitch को लोग इसलिए ट्रस्ट करते है क्युकी CoinSwitch पे कोई भी UPI, Credit Card से पैसे load किया जा सकता है, यानि आप Credit Card से भी निवेश कर सकते है। अभी CoinSwitch ने एक नया सुविधा लाया है, जिसे हर CoinSwitch यूजर को फायदा होगा। क्युकी ज़्यादातर लोग क्रिप्टोकोर्रेंसी पे लॉन्ग टर्म के लिए निवेश करते है।

ऐसेमें आपका जितने भी crypto coin आप buy करके CoinSwitch पे रखोगे उसपे interest मिलेगा। जैसे आपको पता ही होगा bank हर कस्टमर को interest देते है। यहां तक की बैंक से ज़्यादा इंटरेस्ट मिलता है, मलतब आप अभी पैसे बैंक पे रखने से बेहतर होगा क्रिप्टो buy करके रखे। आजकल न्यूज़ में दिखा रहा है की शेयर बाजार (Stock Market) में भी ऐसा ही सुविधा आएगा।

क्रिप्टो करेंसी कहां से खरीदें?: CoinSwitch से कोई भी क्रिप्टो करेंसी खरीद सकते हैं। क्रिप्टोकरेंसी में पैसा निवेश करना कितना आसान है, Crypto Coin बेचना उससे भी ज़्यादा आसान है। Coin Switch kuber पे buy / Sell करना बोहत ही आसान है। किसी भी cryptocurrency sell करने के लिए आपको बस Sell option पे click करना है और जितना coin है डालना है।

क्रिप्टो करेंसी का भविष्य क्या है

क्रिप्टो करेंसी की भविष्य की बात छोड़ो अगर आप क्रिप्टो करेंसी पर पैसे इन्वेस्ट करके रखते हो तो आपका भविष्य बदलने वाले हैं। बहुत सारे लोग क्रिप्टो में पैसे निवेश करके लाखों रुपया कमाया है, मतलब Cryptocurrency से पैसे कमाते हैं। जैसे कि मैंने आपको बताया इसमें कोई संदेह नहीं है कि क्रिप्टो करेंसी भविष्य में ट्रेड करेंसी बनेगा। क्योंकि अभी दुनिया में $ डॉलर ट्रेड करेंसी है।

आपको पता होगा अमेरिका चाहे तो कोई भी देश पर कभी भी सैंक्शन लगा सकते हैं, USD अमेरिका जैसे चाहें वैसे इस्तेमाल कर सकते हैं। लेकिन Cryptocurrency Blockchain Technology से चलता है इसलिए इसे कोई भी track/ban नहीं कर सकता। अभी लोग क्रिप्टोकोर्रेंसी को Share Market की Stock की तरह इस्तेमाल करते है, मतलब खरीदके रकते है और जब प्राइस ज़्यादा होता है तब sell कर देते है।

निष्कर्ष: क्रिप्टोकरेंसी में निवेश कैसे करें? क्रिप्टो करेंसी कहां से खरीदें?

यह बात जरूर याद रखना कि अभी अगर आप कम से कम ₹1,000 भी निवेश करके रखते हो, तो अब मर नहीं जाओगे लेकिन यह बात भी जरूर याद रखना कि भविष्य में क्रिप्टो करेंसी ही दुनिया की ट्रेड करेंसी बनेगा। और जब ऐसा होगा तब एक बिटकॉइन की कीमत $1 million डॉलर होगा।

किसी भी ट्रेडिंग कंपनी में चाहे वह स्टॉक मार्केट हो, म्यूच्यूअल फंड हो, या क्रिप्टो करेंसी हो, हमेशा निवेश करने से पहले अपनी जिम्मेदारी से सही जानकारी ले फिर अपनी कमाई हुई पैसे इन्वेस्ट करें। और यह बात भी जरूर याद रखना की इन्वेस्ट करके रातों-रात जो अमीर होता है वह रातों-रात फकीर भी हो सकता है। इसलिए लॉन्ग टर्म की निवेश में ज़्यादा रेसच करे और पैसे निवेश करे।

निवेश में नए ज़माने के डिजिटल ट्रेंड्स: वे कैसे काम करते हैं

निवेश में नए ज़माने के डिजिटल ट्रेंड्स: वे कैसे काम करते हैं

निश्चित रूप से, इसी वजह से नए जमाने के डिजिटल ट्रेंड्स को भी आसान-ट्रेडिंग के वर्चुअल एसेट की तरह ले लिया गया है जिनका कोई भौतिक प्रारूप नहीं हैं। वे सरकार या केंद्रीय बैंक द्वारा बनाए या जारी नहीं किए गए हैं। इसलिए इन्हें धन या वैध मुद्रा की तरह इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है। मगर कुछ जोखिम हैं जैसे:

- ऐसे डिजिटल एसेट का मूल्य वास्तविक एसेट से जुड़ा नहीं होता है। जिसकी वजह से उनकी वैल्यू— और आपके निवेश में— बड़ी अस्थिरता देखी जा सकती है।
- वर्चुअल एसेट विनियमित नहीं होते हैं। सरकारी नियमों के बिना, निवेशकों के साथ धोखाधड़ी हो सकती है और वे अपना पैसा गंवा सकते हैं।
- फिलहाल, केंद्रीय बजट 2022 के अनुसार, इन वर्चुअल एसेट पर बहुत ज़्यादा टैक्स देना पड़ता है।

इनकी तुलना में, म्युचुअल फंड्स लगभग 1924 से चलन में हैं। पिछली सौ सालों से, निवेशकों की सुरक्षा के लिए म्युचुअल फंड्स को अच्छे से विनियमित और उन पर बारीकी से निगरानी रखी गई है। अलग-अलग तरह के रिटर्न और जोखिम की क्षमता के अनुरूप कई योजनाएं भी उपलब्ध हैं। साथ ही, वे स्वाभाविक रूप से विविधता भरे हैं, इसलिए निवेशक के जोखिम को कम करते हैं। म्यूचुअल फंड्स में अन्य निवेश विकल्पों के मुकाबले सबसे कम टैक्स देने का अतिरिक्त लाभ मिलता है। (म्युचुअल फंड्स पर कैसे टैक्स लगाया जाता है, आप यहाँ पढ़ सकते हैं)।

नए ट्रेंड की हमेशा एक नई और अलग वैल्यू होती है। इसलिए वे निवेशकों को काफ़ी आकर्षक लग सकते हैं। मगर अपनी मेहनत की कमाई को निवेश करने से पहले जोखिमों की भी तुलना करना ज़रूरी है। अच्छी तरह जाँचें-परखें और तय करें कि क्या कोई खास निवेश विकल्प आपके जोखिम प्रोफाइल और रिटर्न की उम्मीदों के अनुरूप है। निवेश के फैसले जीवन भर के लिए होते हैं और इन विकल्पों को तय करने में थोड़ा समय देना सही है।

रेटिंग: 4.31
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 787