इस सम्मेलन में डिजीटल व्यापार की अकाउंटिंग में आने वाली कठिनाइयों और उनका हल कैसे हो, इस विषय को लेकर कर सलाहकार विजय जुलवाने द्वारा उद्बोधन दिया गया। इसके अलावा जीएसटी के बारे में सतर्कता एवं रिटर्न फाइल करने में किसी प्रकार पेनल्टी नहीं लगे। इस विषय पर व्यापारियों को आयुष सोमानी जागरूक करते हुए व्याख्यान हुआ।

ऋषि सुनक और नरेंद्र मोदी

100 रुपये से महंगी दवाओं पर तय होगा वाजिब व्यापार मार्जिन!

सरकार काफी ज्यादा इस्तेमाल होने वाली दवाओं पर कारोबारी मार्जिन वाजिब रखने की दिशा में काम कर रही है ताकि इनकी कीमतें घटाई जा सकें। इस बारे में जानकारी रखने वाले लोगों का कहना है कि 100 रुपये या उससे महंगी दवाओं के लिए भी ऐसा ही किया जा सकता है। सूत्रों का कहना है कि कारोबारी मार्जिन को वाजिब सीमा में लाने के पहले चरण में उन दवाओं को भी शामिल किया जा सकता है, जो मूल्य नियंत्रण के दायरे से बाहर हैं।

इस सप्ताह सरकारी विभागों के साथ भागीदारों की बैठक का हिस्सा रहे एक व्यक्ति ने कहा, ‘वजह यह है कि जो दवाएं आवश्यक दवाओं की राष्ट्रीय सूची में शामिल हैं, उनकी पहले ही अधिकतम कीमत सीमा तय है। ऐसे उत्पादों में कंपनियां मनमाना कारोबारी मार्जिन शायद ही दे पाएं क्योंकि प्रतिस्पर्द्धी कीमतों के कारण ज्यादा मार्जिन की गुंजाइश ही नहीं रहती।’

चेम्बर ऑफ कामर्स एंड इंडस्ट्रीज का वार्षिक सम्मेलन: विषय विशेषज्ञों ने दिए उद्योग और व्यापार को बढाने की टिप्स, 150 व्यापारी हुए आयोजन में शामिल

खरगोन में रविवार को जिला चेम्बर ऑफ कामर्स एंड इंडस्ट्रीज द्वारा आयोजित वार्षिक सम्मेलन हुआ। जिसमें बाहर से आए अलग-अलग विषय के विशेषज्ञों ने व्यापारियों को उद्योग और व्यापार को बढ़ावा देने के बारे में जानकारी दी। यह आयोजन बस स्टैंड क्षेत्र में स्थित श्रीराम धर्मशाला में हुआ। संस्था के इस वार्षिक सम्मेलन के मुख्य अतिथि कलेक्टर कुमार पुरुषोत्तम, एसपी धर्मवीर सिंह यादव थे।

कलेक्टर ने व्यापारियों ने शासन के निर्देशों का पालन करते हुए व्यापार करने की बात कही। ताकि व्यापारी निर्भय होकर व्यापार कर सके। एसपी सिंह ने कहा कि व्यापारियों को व्यापार में आने वाली परेशानियों के निराकरण के लिए प्रशासन और पुलिस सहयोग दिया जाएगा। संस्था के अध्यक्ष कैलाश अग्रवाल ने बताया कि चेम्बर ऑफ कॉमर्स संस्था एक सेतू है जो व्यापारियों और प्रशासन के बीच एक सेतू का काम करती है। व्यापारी इस संस्था के माध्यम से व्यापार में आने वाली परेशानियों को दूर कर सकते है।

India-US: भारत-अमेरिका व्यापार नीति बैठक स्थगित करने पर दोनों पक्ष सहमत, अमेरिकी व्यापार सत्रों के बारे में जानकारी मध्यावधि चुनाव का दिया हवाला

पीयूष गोयल और अमेरिकी व्यापार प्रतिनिधि कैथरीन ताई।

भारत-अमेरिकी व्यापार नीति मंच (टीपीएफ) को अगले साल की शुरुआत तक के लिए स्थगित कर दिया गया है। वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल और उनके अमेरिकी व्यापार प्रतिनिधि कैथरीन ताई के बीच व्यापार पर द्विपक्षीय बैठक नवंबर में आगामी अमेरिकी मध्यावधि चुनावों का हवाला देते हुए अगले साल की शुरुआत में पुनर्निर्धारित की गई है।

दरअसल, अमेरिका में आठ नवंबर को मध्यावधि चुनाव होने हैं, जो अमेरिकी संसद (कांग्रेस) का भविष्य निर्धारित करेंगे। इसे लेकर अमेरिका में विशेष सियासी सतर्कता भी बरती जा रही है। टीपीएफ का स्थगित किया जाना भारत और अमेरिका के बीच आपसी सहमति से लिया गया फैसला है। घटनाक्रम से परिचित एक अधिकारी ने टीपीएफ के टलने की जानकारी नाम उजागर न करने की शर्त पर दी है। हालांकि अमेरिकी वित्त मंत्री जेनेट येलेन और वाणिज्य मंत्री जीना रायमोंडो समेत बाइडन प्रशासन के शीर्ष अफसर इस साल आठ नवंबर से 13 फरवरी के बीच नई दिल्ली में दौरा कर सकते हैं। वे इस दौरान गोयल से मुलाकात भी करेंगे।

विस्तार

भारत-अमेरिकी व्यापार नीति मंच (टीपीएफ) को अगले साल की शुरुआत तक के लिए स्थगित कर दिया गया है। वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल और उनके अमेरिकी व्यापार प्रतिनिधि कैथरीन ताई के बीच व्यापार पर द्विपक्षीय व्यापार सत्रों के बारे में जानकारी बैठक नवंबर में आगामी अमेरिकी मध्यावधि चुनावों का हवाला देते हुए अगले साल की शुरुआत में पुनर्निर्धारित की गई है।

दरअसल, अमेरिका में आठ नवंबर को मध्यावधि चुनाव व्यापार सत्रों के बारे में जानकारी होने हैं, जो अमेरिकी संसद (कांग्रेस) का भविष्य निर्धारित करेंगे। इसे लेकर अमेरिका में विशेष सियासी सतर्कता भी बरती जा रही है। टीपीएफ का स्थगित किया जाना भारत और अमेरिका के बीच आपसी सहमति से लिया गया फैसला है। घटनाक्रम से परिचित एक अधिकारी ने टीपीएफ के टलने की जानकारी नाम उजागर न व्यापार सत्रों के बारे में जानकारी करने की शर्त पर दी है। हालांकि अमेरिकी वित्त मंत्री जेनेट येलेन और वाणिज्य मंत्री जीना रायमोंडो समेत बाइडन प्रशासन के शीर्ष अफसर इस साल आठ नवंबर से 13 फरवरी के बीच नई दिल्ली में दौरा कर सकते हैं। वे इस दौरान गोयल से मुलाकात भी करेंगे।

अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मेले में आयुष मंत्रालय की खास पहलों का आयोजन

दिल्ली के प्रगति मैदान में इंडिया इंटरनेशनल ट्रेड फेयर (IITF) यानि अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेला आज से प्रारंभ हो गया है। यह ट्रेड फेयर 14 नवंबर (सोमवार) से शुरू होकर 27 नवंबर (रविवार) को समाप्त होगा। इंडिया इंटरनेशनल ट्रेड फेयर 2022 का उद्घाटन केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने किया।

ट्रेड फेयर में आयुष मंत्रालय ने “वैश्विक स्वास्थ्य के लिए आयुष” विषय पर अपनी पहलों को लोगों तक पहुंचाने की कोशिश है। लोगों को स्वास्थ्य के प्रति जागरुक करने और अच्छी जीवन शैली विकसित करने के लिए इस वर्ष के व्यापार मेले में आयुष मंत्रालय विभिन्न आकर्षक और दिलचस्प गतिविधियों का आयोजन कर रहा है। आइए जानते है अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मेले 2022 में आयुष मंत्रालय खास गतिविधियां…….

जानिए मेले में आयुष मंत्रालय की क्या है खास तैयारी

लोगों को जागरूक करने के लिए अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मेले में विभिन्न आयुष संस्थान और अनुसंधान निकाय ने आयुर्वेद, योग और प्राकृतिक चिकित्सा, यूनानी, सिद्ध, सोवा-रिग्पा और होम्योपैथी चिकित्सा के स्टाल लगाए हैं। इन स्टाल के माध्यम से लोगों को सिखाया जाएगा कि कैसे दैनिक दिनचर्या सुधारने के लिए आयुष प्रणाली के अंतर्गत उपलब्ध आहार संबंधी आदतों को अपनी जीवन शैली में शामिल करके अच्छे स्वास्थ्य को बना सकते हैं।

इस वर्ष के व्यापार मेले में आयुष मंत्रालय ने आयुष मंडप के माध्यम से लोगों को आकर्षित करने के लिए विभिन्न गतिविधियां आयोजित की हैं, जिससे यहां आने वाले लोगों को साबुन, जेल, क्रीम, गोली, आदि, मसालों की पहचान और मिलान जैसी “अपना स्वयं के आयुष आइटम बनाएं” जैसी गतिविधियों के माध्यम से आयुष के लाभों के बारे में जानकारी मिलेगी। मेले में स्वस्थ जीवन शैली को विकसित करने के लिए सांप और सीढ़ी जैसे पुराने खेल जैसे दिलचस्प गतिविधियों का आयोजन किया जा रहा है। मेले में सबसे आकर्षित गतिविधियों में “दादी से पूछो” कार्यक्रम के माध्यम से लोगों को स्वास्थ्य समस्याओं के लिए रसोई में होने वाली समस्याओं को समाधान करने की जानकारी दी जाएगी।

व्यापार मेले में लोगों को क्या सुविधाएं मिलेंगी

मेले में आगंतुकों के लिए मुफ्त ओपीडी की सुविधा की गई है, व्यापार सत्रों के बारे में जानकारी जहां आयुष चिकित्सक स्वास्थ्य सलाह देंगे। व्यापार मेले में “सॉफ्टवेयर आधारित प्रकृति परीक्षण और मिजाज परीक्षण किया जाएगा, जहां किसी व्यक्ति की प्रकृति (आयुर्वेद के सिद्धांतों के अनुसार) और मिजाज (यूनानी के सिद्धांतों के अनुसार) का आकलन किसी व्यक्ति के प्रोफाइल या अद्वितीय मनोदैहिक स्वभाव के आधार पर किया जा सकता है, जिसमें उसका व्यक्तित्व या उसकी शारीरिक, कार्यात्मक और व्यवहारिक विशेषताएं शामिल है। व्यापार मेले में आगंतुकों को विभिन्न स्वास्थ्य लाभ वाले औषधीय पौधे नि:शुल्क दिए जाएंगे।

व्यापार मेले में आयुष प्रश्नोत्तरी के विजेताओं को आकर्षक पुरस्कार भी दिए जाएंगे। इसके साथ ही व्यापार मेले में नई दिल्ली के मोरारजी देसाई राष्ट्रीय योग संस्थान के विशेषज्ञों द्वारा योग फ्यूजन कार्यक्रम, लाइव योग प्रदर्शन, कार्यस्थल पर योग विराम और योग चिकित्सा का प्रदर्शन किया जाएगा।

विस्तार

भारत और ब्रिटेन के बीच मुक्त व्यापार समझौते (एफटीए) को मार्च 2023 तक अंतिम रूप दिए जाने की संभावना है। वाणिज्य मंत्रालय के सूत्रों ने यह जानकारी दी।

दोनों देशों की बीत मुक्त व्यापार समझौते पर वार्ता अक्तूबर तक पूरी होनी थी, लेकिन किसी तरह देरी हो गई। भारत और ब्रिटेन के बीच एक व्यापार समझौता है, जिसके तहत 2030 तक द्विपक्षीय व्यापार को दोगुना करना है।

ये चर्चा मंत्री स्तर पर होगी या सचिव स्तर पर, व्यापार सत्रों के बारे में जानकारी यह जल्द ही तय हो जाएगा। सूत्रों के मुताबिक, भारत और ब्रिटेन के बीच एफटीए को मार्च 2023 तक अंतिम रूप दिए जाने की उम्मीद है।

हाल ही में वेस्ट मिडसलैंड्स के मेयर एंटी स्ट्रीट ने कहा कि भारत को मोटर वाहन उद्योग जैसे क्षेत्रों को लाभ पहुंचाने के लिए विनिर्मित वस्तुओं पर शुल्क कम करने को प्राथमिकता देनी चाहिए। एंडी स्ट्रीट सत्ताधारी कंजर्वेटिव पार्टी के सदस्य हैं।

रेटिंग: 4.84
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 720