क्रिप्टोकरेंसी से जुड़ा बिल संसद के शीलकालीन सत्र में पेश किया जा सकता है।

कारोबार : दिवाली के खास मौके पर आज होगी ‘मुहूर्त ट्रेडिंग’, जानिए कब खुलेगा बाजार

आज पूरे देश में रोशनी का त्योहार दिवाली बड़े ही धूमधाम से मनाया जा रहा है। इस विशेष दिन पर, लोग देवी लक्ष्मी की पूजा करते हैं और पूरे वर्ष अपने घरों में धन और समृद्धि की प्रार्थना करते हैं। शेयर बाजार के निवेशकों के लिए भी दिवाली का त्योहार बेहद शुभ है। हालांकि इस दिन शेयर बाजार बंद रहता है, लेकिन दिवाली पर शाम को लक्ष्मी पूजन के बाद एक घंटे तक मुहूर्त ट्रेडिंग की जाती है। एक घंटे के अंदर निवेशक शेयर बाजार में ढेर सारा पैसा लगा देते हैं और अपना निवेश शुरू कर देते हैं। अगर आप भी दिवाली के पावन अवसर पर मुहूर्त ट्रेडिंग में हिस्सा लेना चाहते हैं तो हम आपको इसके पूरे कार्यक्रम की जानकारी दे रहे हैं।

बहुत शुभ माना जाता है मुहूर्त व्यापार

आपको बता दें कि विक्रम संवत् 2079 के शुभारंभ के अवसर पर दीपावली के दिन देश के प्रमुख शेयर बाजारों बीएसई (BSE) और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) में मुहूर्त कारोबार इस वर्ष एक घंटे शाम 6.15 बजे से लेकर 7.15 बजे तक का होगा। शेयर बाजार में मुहूर्त ट्रेडिंग की परंपरा करीब 50 साल पुरानी है। हिंदू धर्म के अनुसार दिवाली के दिन से कोई भी निवेश शुरू करना बहुत शुभ माना जाता है। मुहूर्त ट्रेडिंग के दिनों में निवेशक कम निवेश करते हैं और अधिक निवेश करते हैं। इस साल मुहूर्त ट्रेडिंग बेहद खास है क्योंकि इस साल शनिवार और रविवार को धनतेरस पड़ रहा है। ऐसे में निवेशक इस दिन शेयर बाजार में निवेश नहीं कर सकते हैं। दिवाली के दिन एक घंटे में शेयर बाजार के काफी मजबूत रहने की उम्मीद है।

शेयर बाजार में मुहूर्त ट्रेडिंग शुरू होने से पहले गणेश-लक्ष्मी की पूजा की जाती है। स्टॉक एक्सचेंज के सदस्य इस पूजा में भाग लेते हैं। इसके बाद फिर से मुहूर्त का कारोबार शुरू होता है। उम्मीद है कि पीक ट्रेडिंग ऑवर्स के दौरान स्टॉक 60,000 का आंकड़ा पार कर जाएगा। बीएसई के अनुसार, 24 अक्टूबर को शाम छह बजे से प्री ओपन सत्र शुरू होगा जो 6.08 बजे समाप्त होगा। इसके बाद आम निवेशकों के लिए 6.15 बजे से कारोबार की शुरूआत होगी जो एक घंटे तक 7.15 बजे तक चलेगा। दिवाली के दिन निवेश को शुभ माना जाता है और इस दिन अधिकांश बड़े निवेशक या कंपनियां शेयर बाजार में खरीद बेच करती है।

संवत 2078 में इतनी बढ़ी निवेशकों की दौलत

हिंदू कैलेंडर वर्ष के मुताबिक संवत 2078 में सेंसेक्स 456 अंक गिरकर 59,307.15 अंक पर बंद हुआ। जबकि निफ्टी 253 अंक फिसलकर 17,576.30 के स्तर पर बंद हुआ। संवत 2078 में शेयर बाजार के निवेशकों की दौलत 11.3 लाख करोड़ रुपये बढ़ी। एक वर्ष में बीएसई लिस्टेड कंपनियों का मार्केट कैप 11.3 लाख करोड़ रुपये बढ़कर 274.4 लाख करोड़ रुपये बढ़ा। ऐतिहासिक आंकड़े बताते हैं कि संवत 2078 पिछले सात सालों में भारतीय बाजारों के लिए सबसे खराब साल रहा।

एक साल में शेयर बाजार में भारी उतार-चढ़ाव देखा गया

पिछले साल दिवाली के दिन 4 नवंबर 2021 को मुहूर्त ट्रेडिंग का आयोजन किया गया था। शेयर बाजार के लिए दिन बहुत अच्छा रहा। आज के दिन सेंसेक्स ने 60 हजार का आंकड़ा पार किया था। वहीं निफ्टी 17,921 पर बंद हुआ। वहीं, पिछले एक साल में शेयर बाजार में काफी उतार-चढ़ाव देखने को मिला है।

महंगाई, कोरोना महामारी, रूस-यूक्रेन युद्ध, रुपये की गिरती कीमतों और कच्चे तेल की कीमतों में तेजी के चलते शेयर बाजार में लगातार तेजी देखने को मिल रही है। शुक्रवार को सेंसेक्स 104.25 अंक ऊपर 59,307.15 पर बंद हुआ था।

क्या इंडेक्स ट्रेडिंग का समय बढ़ना चाहिए? जरूर देखिए अनिल सिंघवी का ये वीडियो

इंडेक्स ट्रेडिंग का समय बढ़ाने की क्यों हो रही है चर्चा? क्या इंडेक्स ट्रेडिंग का समय बढ़ना चाहिए? इंडेक्स ट्रेडिंग का समय कितना बढ़ना चाहिए? ट्रेडिंग का समय बढ़ने से क्या फायदा, क्या नुकसान? जरूर देखिए अनिल सिंघवी का ये वीडियो.

United Trading cTrader

बस अपने Facebook, Google खाते या अपने cTrader आईडी से लॉग इन करें और अनुकूलित करने के लिए ऑर्डर प्रकार, उन्नत तकनीकी विश्लेषण टूल, मूल्य अलर्ट, व्यापार सांख्यिकी, उन्नत ऑर्डर प्रबंधन सेटिंग्स, प्रतीक वॉचलिस्ट और कई अन्य सेटिंग्स की एक पूरी श्रृंखला तक पहुंच प्राप्त करें। आपकी ऑन-द-गो ट्रेडिंग आवश्यकताओं के लिए प्लेटफॉर्म।

डायरेक्ट प्रोसेसिंग (एसटीपी) और नो डीलिंग डेस्क (एनडीडी) ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म:

• विस्तृत प्रतीक जानकारी आपको उन संपत्तियों को समझने में मदद करती है जिनका आप व्यापार कर रहे हैं
• सिंबल ट्रेडिंग शेड्यूल आपको दिखाता है कि बाजार कब खुला या बंद है
• समाचार स्रोतों के लिंक आपको उन घटनाओं के बारे में सूचित करते हैं जो आपके व्यापार को प्रभावित कर सकती हैं
• फ्लुइड और रिस्पॉन्सिव चार्ट और क्विकट्रेड मोड एक-क्लिक ट्रेडिंग की अनुमति देते हैं
• मार्केट सेंटीमेंट इंडिकेटर दिखाता है कि दूसरे लोग कैसे ट्रेडिंग कर रहे हैं

सभी संकेतकों और आरेखणों के लिए उन्नत सेटिंग्स के साथ परिष्कृत तकनीकी विश्लेषण उपकरण:

• 4 चार्ट प्रकार: मानक समय सीमा, टिक, रेन्को और रेंज चार्ट chart
• 5 चार्ट व्यू विकल्प: कैंडलस्टिक्स, बार चार्ट, लाइन चार्ट, डॉट्स चार्ट, एरिया चार्ट
• 8 चार्ट ट्रेडिंग सत्र कब तक है? आरेखण: क्षैतिज, लंबवत और रुझान रेखाएं, रे, समदूरस्थ चैनल, फाइबोनैचि रिट्रेसमेंट, इक्विडिस्टेंट प्राइस चैनल, आयत
• 65 लोकप्रिय तकनीकी संकेतक

अतिरिक्त सुविधाएं:

• पुश और ईमेल अलर्ट कॉन्फ़िगरेशन: चुनें कि आप किन घटनाओं के बारे में जानना चाहते हैं
• एक ऐप में सभी खाते: एक साधारण क्लिक से अपने खातों में तेज़ी से स्विच करें
• व्यापार सांख्यिकी: अपनी रणनीतियों और व्यापार प्रदर्शन की विस्तार से समीक्षा करें
• मूल्य अलर्ट: जब कोई कीमत एक निर्दिष्ट स्तर पर पहुंचती है तो सूचना प्राप्त करें
• प्रतीक वॉचलिस्ट: अपने पसंदीदा प्रतीकों को समूहीकृत करें और सहेजें
• सत्र प्रबंधित करें: अपने अन्य उपकरणों को लॉग ऑफ करें
• २३ भाषाएँ: अपनी मूल भाषा में अनुवादित सभी प्लेटफ़ॉर्म सुविधाओं तक पहुँचें

Youth Trend

Muhurat Trading 2022 : दिवाली के दिन क्यों ख़ास होता है ट्रेडिंग, सिर्फ 1 घंटे के लिए खुलता है शेयर बाज़ार

Muhurat Trading 2022 : हिंदू कैलेंडर वर्ष के अनुसार नए विक्रम संवत् 2079 के शुभारंभ के अवसर पर जो दिवाली से शुरू होता है, आज 24 अक्टूबर को दुनिया के दो सबसे प्रमुख स्टॉक एक्सचेंजों, बीएसई (BSE) और एनएसई (NSE) पर एक घंटे के विशेष मुहूर्त ट्रेडिंग सत्र (Muhurat Trading 2022) मनाया जाएगा। स्टॉक एक्सचेंजों ने सांकेतिक ट्रेडिंग सत्र के लिए अलग-अलग सर्कुलर में समय सीमा की घोषणा की गई है जो आज शाम 1 घंटे के लिए रहेगा। मुहूर्त ट्रेडिंग, या शुभ समय पर ट्रेडिंग, हितधारकों को समृद्धि और वित्तीय सफलता लाने के लिए माना जाता है। देखा गया है कि मुहूर्त ट्रेडिंग में बाजार ने ऐतिहासिक रूप से काफी अच्छा प्रदर्शन किया है. हालाँकि ज्यादातर मुहूर्त पर सेंसेक्स में तेजी बनी रही है लेकिन अगले सेशन में गिरावट भी आई है.

Muhurat Trading 2022 : कब से कब तक होगी ट्रेडिंग

इक्विटी, कमोडिटी डेरिवेटिव्स, करेंसी डेरिवेटिव्स, इक्विटी फ्यूचर्स एंड ऑप्शंस, और सिक्योरिटीज लेंडिंग एंड बॉरोइंग (एसएलबी) जैसे विभिन्न क्षेत्रों में ट्रेडिंग एक ही समय स्लॉट में होगी। बता दें कि आज मुहूर्त ट्रेडिंग सत्र (Muhurat Trading 2022 Time) शाम 6.15 बजे से लेकर 7.15 बजे तक का होगा. ब्लॉक डील शाम 5.45 बजे से शाम 6 बजे तक होगी. इसके अलावा आपको ये भी बता दें कि मुहूर्त ट्रेडिंग शाम 6:00 से 6:08 बजे प्री ओपन ट्रेडिंग सेशन होगा.

अगले दिन यानी मंगलवार को शयेर मार्केट अपने निर्धारित समय से खुलेगा और सभी तरह के कारोबार होंगे जबकि बुधवार ट्रेडिंग सत्र कब तक है? को स्टॉक मार्केट मे दिवाली बलिप्रदा की वजह से कोई कारोबार नहीं किया जाएगा.

2008 में मुहूर्त ट्रेडिंग सेशन में बाजार ने लगाई थी लंबी छलांग

बताते चलें कि वर्ष 2008 में दिवाली के दिन शेयर बाजार ने जबरदस्त छलांग लगाकर सबको चौंकाया था. 28 अक्टूबर 2008 को दिवाली के दिन 1 घंटे के मुहूर्त ट्रेडिंग सेशन सेंसेक्स 5.9% चढ़ा था जो कि एक रिकॉर्ड है. इसके अलावा आंकड़ों की बात की जाए तो पिछले 15 वर्षों में से 11 बार मुहूर्त ट्रेडिंग (Muhurat Trading 2022) पर बाजार बढ़त के साथ बंद होने में कामयाब रहा है. पिछले ही साल 2021 की दिवाली के दिन एक घंटे के लिए हुई मुहूर्त ट्रेडिंग के दौरान सेंसेक्स-निफ्टी हरे निशान में बंद हुए थे. सेंसेक्स 296 अंक ( 0.49%) की बढ़त के साथ 60,067.62 के स्तर पर बंद हुआ था, ट्रेडिंग सत्र कब तक है? जबकि निफ्टी 88 अंक उछलकर 17,916.80 के स्तर पर बंद हुआ था.

हमसे जुड़े तथा अपडेट रहने के लिए आप हमें Facebook Instagram Twitter Sharechat Koo App YouTube Telegram पर फॉलो व सब्सक्राइब करें

Cryptocurrency की ट्रेडिंग पर संसद में जल्द पास होगा बिल, जानिए- अगर बैन लगा तो क्या होगा आपके निवेश का

क्रिप्टोकरेंसी से जुड़े बिल का नाम ‘द क्रिप्टोकरेंसी एंड रेगुलेशन ऑफ ऑफिशियल डिजिटल करेंसी बिल, 2021’ है। ऐसा माना जा रहा है कि, यह बिल बिटकॉइन सहित दूसरी क्रिप्टो में निवेश करने वालों के सामने मुश्किल खड़ी कर सकता है।

Cryptocurrency की ट्रेडिंग पर संसद में जल्द पास होगा बिल, जानिए- अगर बैन लगा तो क्या होगा आपके निवेश का

क्रिप्टोकरेंसी से जुड़ा बिल संसद के शीलकालीन सत्र में पेश किया जा सकता है।

संसद के शीतकालन सत्र में सरकार क्रिप्टोकरेंसी की ट्रेडिंग और निवेश पर कानून बना सकती है। इसके लिए सरकार अध्यादेश भी ला सकती है। अगर आपने भी क्रिप्टोकरेंसी में निवेश किया है तो आपके लिए ये खबर काफी काम की साबित हो सकती है। क्योंकि यहां हम बताने वाले हैं कि, संसद में कानून पास होने के बाद आप अपने क्रिप्टोकरेंसी के निवेश का क्या कर सकते हैं। इसके साथ ही हम यहां आपको बताते है कि, सरकार किस तरह के कानून बना सकती है। आइए जानते हैं इसके बारे में….

शीतकालीन सत्र में पास होंगे इतने बिल – संसद का शीतकालीन सत्र जल्द ही शुरू होने वाला है। सरकार इस सत्र में 26 नए बिल पेश करने की तैयारी कर रही है। जिसमें से तीन कानून अध्यादेश के जरिए सरकार पारित कराने की सोच रही है। ये जानकारी मंगलवार शाम को शीलकानीन सत्र के लिए जारी हुए लेजिस्टलेटिव एजेंटा से सामने आई है। ऐसे में सरकार क्रिप्टोकरेंसी से जुड़ा कानून भी इसी सत्र में पारित करा सकती है।

क्या क्रिप्टोकरेंसी ट्रेडिंग सत्र कब तक है? बैन होगी ? केंद्र सरकार जल्द से जल्द क्रिप्टोकरेंसी पर बिल लाना चाहती है। क्योंकि क्रिप्टोकरेंसी पर कोई निगरानी नहीं होने की वजह से देश को आर्थिक और सुरक्षात्मक नुकसान का खतरा बना हुआ है। ऐसे में केंद्र सरकार क्रिप्टोकरेंसी पर बैन लगा सकती है या फिर कुछ प्रतिबंधों के साथ इसमें ट्रेडिंग की इजाजत दे सकती है। यह सारी बात क्रिप्टोकरेंसी के बिल के सामने आने के बाद ही साफ हो पाएगा। लेकिन हम आपको ऐसी किसी भी स्थिति में फसने पर समाधान बताने जा रहे हैं। ऐसे में देश के अंदर क्रिप्टोकरेंसी की दर में 15 फीसदी तक की कमी आई है।

Delhi Acid Attack: तीनों आरोपी चढ़े हत्थे, Flipkart से खरीदा था तेजाब, केजरीवाल बोले- ये बर्दाश्त से बाहर

Jyotiraditya Scindia: अमित शाह संग यूं दिखे ज्योतिरादित्य सिंधिया, कांग्रेस नेता बोले- टाइगर जिंदा है? लोग भी ले रहे मजे

Pune में शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी के विरोध प्रदर्शन में गया BJP सांसद, सिक्किम में भी भाजपा अध्यक्ष ने दिया इस्तीफा

Gadar 2: 20 साल बाद फिर होगी सनी देओल की पाकिस्तान से जंग, 200 सैनिकों के रोल के लिए चुने गए इस शहर के लड़के

कैसा होगा क्रिप्टोकरेंसी बिल का स्वरूप- क्रिप्टोकरेंसी से जुड़े बिल का नाम ‘द क्रिप्टोकरेंसी एंड रेगुलेशन ऑफ ऑफिशियल डिजिटल करेंसी बिल, 2021’ है। ऐसा माना जा रहा है कि, यह बिल बिटकॉइन सहित दूसरी क्रिप्टो में निवेश करने वालों के सामने मुश्किल खड़ी कर सकता है। अगर सरकार क्रिप्टो पर प्रतिबंध लगाती है तो बैंक और क्रिप्टो एक्सचेंजों के बीच लेनदेन बंद हो जाएगा। कोई क्रिप्टो खरीदने के लिए अपनी स्थानीय मुद्रा को परिवर्तित नहीं कर पाएंगे। इसके साथ ही आप उन्हें भुना भी नहीं पाएंगे।

RBI जारी कर सकती है डिजिटल करेंसी – सरकार के बिल में आरबीआई के द्वारा डिजिटल करेंसी जारी करने की बात भी हो सकती है। इसके साथ ही ट्रेडिंग सत्र कब तक है? सरकार विदेशी डिजिटल करेंसी को सेल आउंट करने का भी मौका दे सकती है। इसके साथ ही अगर आप आरबीआई की डिजिटल करेंसी में निवेश करते हैं तो आपको विदेशी डिजिटल करेंसी को एक्सचेंज करने का भी मौका मिल सकता है।

रेटिंग: 4.94
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 315